यूनेस्को इंडिया अफ्रीका हैकथान में पहुंचे धीरेन्द्र सिंह, छात्रों से कहा- कोई दिक्कत हो तो तुरंत मुझे करें कॉल

Greater Noida : यूनेस्को इंडिया अफ्रीका हैकथान में पहुंचे धीरेन्द्र सिंह, छात्रों से कहा- कोई दिक्कत हो तो तुरंत मुझे करें कॉल

यूनेस्को इंडिया अफ्रीका हैकथान में पहुंचे धीरेन्द्र सिंह, छात्रों से कहा- कोई दिक्कत हो तो तुरंत मुझे करें कॉल

Tricity Today | यूनेस्को इंडिया अफ्रीका हैकथान में पहुंचे धीरेन्द्र सिंह

यूनेस्को इंडिया अफ्रीका हैकथान में पहुंचे धीरेन्द्र सिंह, छात्रों से कहा- कोई दिक्कत हो तो तुरंत मुझे करें कॉल Greater Noida : गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में 22 नवंबर से शुरू हुए 36 घंटे के यूनेस्को इंडिया अफ्रीका हैकथान में प्रतिभाग करने के लिए 22 देशों के लगभग 600 से अधिक छात्र-छात्राएं और प्रतिनिधि यहां उपस्थित हुए है। इसी कार्यक्रम में बुधवार को जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय पहुंचकर संयुक्त रूप से सभी छात्रों को अंग वस्त्र पहनाकर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर धीरेंद्र सिंह ने अफ्रीका छात्रों के साथ संवाद भी किया।

लगातार 36 घंटे चलेगा कार्यक्रम          
धीरेंद्र सिंह ने अंग वस्त्र पहनाकर उपस्थित बच्चों को संबोधित करते हुए कहा, "सभी छात्र-छात्राएं भारत के छात्र-छात्राओं के साथ मिलकर अलग-अलग टीमों के माध्यम से विभिन्न प्रॉब्लम स्टेटमेंट्स पर समाधान बनाने का प्रयास करेंगे तो यह शिक्षा और अपने अपने देश के लिए एक बेहतरीन संदेश होगा। आगामी 36 घंटे लगातार चलने वाला यह आयोजन अफ्रीका के छात्र-छात्राओं को भारत में शिक्षा और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में नए अवसरों का लाभ उठाने का बेहतरीन मौका प्रदान करेगा।" 

"हमने पूरी दुनिया को अपने परिवार की तरह माना"
धीरेन्द्र सिंह ने इस मौके पर कहा, "हमने पूरी दुनिया को अपने परिवार की तरह माना है, इसीलिए ईसा पूर्व गौतम बुद्ध ने पूरी दुनिया को शांति का संदेश दिया था। वसुधैव कुटुंबकम भारत की सनातन संस्कृति की पराकाष्ठा को परिलक्षित करता है जहां सिर्फ दया और करुणा के भाव के साथ विश्व बंधुत्व की भावना है।"

अपना मोबाइल नंबर और ईमेल साझा किया
धीरेंद्र सिंह ने विदेशी छात्र-छात्राओं के प्रतिनिधियों को किसी भी समस्या के लिए अपना मोबाइल नंबर और ईमेल भी उपलब्ध कराया। इस मौके पर धीरेंद्र सिंह के साथ गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर आरके सिन्हा, प्रोफेसर अरविंद सिंह, प्रोफेसर आनंद प्रताप सिंह और आंचल बोरा जी मौजूद रहे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.