यह होश का जमाना है, हमें गर्व है हमारे भीतर राम और महाराणा का रक्त बह रहा है

महाराणा प्रताप जयंती : यह होश का जमाना है, हमें गर्व है हमारे भीतर राम और महाराणा का रक्त बह रहा है

यह होश का जमाना है, हमें गर्व है हमारे भीतर राम और महाराणा का रक्त बह रहा है

Tricity Today | धीरेन्द्र सिंह ने मनाई महाराणा प्रताप की जयंती

यह होश का जमाना है, हमें गर्व है हमारे भीतर राम और महाराणा का रक्त बह रहा है Greater Noida News : "यह जोश का नहीं होश का जमाना है। हमें आम आदमी के दिल जीतने हैं। महाराणा प्रताप और भगवान श्रीराम ने समाज व राष्ट्र की रक्षा के लिए परीक्षाएं दीं। समाज का भरोसा जीतने के लिए माता सीता को अग्निपरीक्षा देनी पड़ी। आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समाज के सबसे कमजोर वर्ग के हितों की रक्षा के लिए झंझावातों का सामना कर रहे हैं।" यह बातें रविवार को जेवर के विधायक धीरेन्द्र सिंह ने महाराणा प्रताप जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम में कहीं। यह कार्यक्रम ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बीजीएस विजनाथम स्कूल में आयोजित किया गया। जिसमें दिल्ली-एनसीआर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के राजपूतों ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

धीरेंद्र सिंह ने कहा, "महाराणा प्रताप ने अपनी मातृभूमि और अस्मिता की रक्षा के लिए मुगलों से लोहा लिया। हम सोचें कि उन्होंने जंगल में रहना क्यों चुना? संघर्ष करना और रक्त युद्ध क्यों चुना? उनके भीतर एक क्षत्रिय की भावना थी, जिसका धर्म समाज के हर वर्ग की रक्षा करना है। क्षत्रिय धर्म का अस्तित्व ही समाज का हमारे ऊपर विश्वास है। भगवान राम के शासनकाल में एक मामूली से आरोप के कारण मां सीता को अग्निपरीक्षा देनी पड़ी थी। दरअसल, समाज का हर वर्ग हमारे ऊपर भरोसा करे, यह जरूरी है।"

जेवर विधायक ने आगे कहा, "हमें फख्र होना चाहिए कि हमारी रगों में राम-सीता और महाराणा प्रताप का रक्त बह रहा है। महाराणा ने विदेशी आक्रांताओं से अपनी जमीन की रक्षा के लिए यह रक्त बहाया था। मैं आपको जोश नहीं दिलाऊंगा। आपको होश दिलाऊंगा। वह जमाना था, जब जोश और तलवार से राज्य जीते जाते थे। अब होश से आम आदमी का भरोसा जीतना पड़ता है।"

धीरेंद्र सिंह ने आगे कहा, "अपने कर्मों से अपने व्यक्तित्व को इतना मजबूत कर लें कि सामने वाले हमें सहयोग करने और मजबूत करने के लिए मजबूर हो जाएं। आज तलवार का दौर नहीं है। एक योगी पुरुष तमाम झंझावातों का सामना करते हुए इस राज्य के कमजोर से कमजोर व्यक्ति के हितों की रक्षा के लिए लड़ रहा है। वह अपने क्षत्रिय धर्म का पालन कर रहा है। हमें उनसे सीखना चाहिए और इसी धर्म का पालन करना चाहिए।"

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.