Breaking News : गैंगस्टर अनिल दुजाना ने जेल से छूटते ही घर बसाया, जानिए कौन है दुल्हन

गैंगस्टर अनिल दुजाना ने जेल से छूटते ही घर बसाया, जानिए कौन है दुल्हन

Tricity Today | अनिल दुजाना की शादी

गौतमबुद्ध नगर के गैंगस्टर और पश्चिम उत्तर प्रदेश में आतंक का पर्याय माने जाने वाले कुख्यात अनिल दुजाना ने जेल से छूटते ही शादी कर ली है। मिली जानकारी के मुताबिक अनिल दुजाना ने शुक्रवार को शादी की है। बेहद कम लोगों की मौजूदगी में हिंदू रीति-रिवाज के साथ शादी की गई है। लड़की गुर्जर समाज से ही ताल्लुक रखती है। दोनों की सगाई अनिल दुजाना के जेल जाने से पहले ही हो चुकी थी। अब वह सात फेरों के बंधन में बंध गया है। अनिल दुजाना के वकील ने इस शादी की पुष्टि की है। शादी का एक फोटो भी सोशल मीडिया पर आया है।



अनिल दुजाना के वकील जितेंद्र नागर ने बताया कि शुक्रवार को उसने शादी कर ली है। उसकी पत्नी बागपत जिले के घिटोरा गांव की रहने वाली है। युवती का नाम पूजा है। वह 21 साल की पढ़ी-लिखी लड़की है। युवती गुर्जर समाज से ताल्लुक रखती है। जितेंद्र नागर ने आगे बताया कि इन दोनों की सगाई पूर्व में ही हो चुकी थी, लेकिन सगाई के बाद अनिल जेल चला गया था। अब अनिल को अदालत ने जमानत दे दी है। इसी सप्ताह सोमवार को उसे उत्तर प्रदेश की महाराजगंज जेल से रिहा कर दिया गया है। उसके वकील ने बताया कि जेल से छूटने के बाद उसने सबसे पहले लंबे अरसे से लंबित चल रही अपनी शादी को मुकम्मल स्वरूप दिया है।

एडवोकेट जितेंद्र नागर ने दावा किया कि अनिल दुजाना को अब सारे मामलों में जमानत मिल चुकी है। उसके खिलाफ फिलहाल कोई नया मुकदमा लंबित नहीं है। पूर्व में दर्ज हुए मुकदमों की सुनवाई में वह समय से अदालत में हाजिर हो रहा है। वह जमानत की शर्तों को पूरा करेगा। अनिल दुजाना और उसकी पत्नी पूजा एकसाथ रह रहे हैं। आपको बता दें कि गैंगस्टर अनिल दुजाना पिछले कई वर्षों से जेल में बंद था। उसे दिल्ली-एनसीआर से दूर महाराजगंज जेल में रखा गया था। अनिल दुजाना और उसका गैंग उत्तर प्रदेश पुलिस की हिट लिस्ट में शामिल हैं। अब उसे जमानत मिलने के बाद गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद और बागपत पुलिस हाई अलर्ट पर हैं। पुलिस अफसरों का कहना है कि अनिल दुजाना की सभी गतिविधियों पर सर्विलांस रखा जा रहा है।

जिले में जमानत को लेकर चल रही थी चर्चाएं
अनिल दुजाना को जमानत मिली या नहीं, इस बात को लेकर पिछले कई दिनों से जिले में चर्चाएं चल रही थी। कुछ लोगों का कहना था कि अनिल जमानत पर छूटकर आ गया है। वहीं, कुछ लोग कह रहे थे कि वह महाराजगंज जेल से तबादला करवा कर दिल्ली की तिहाड़ जेल पहुंच गया है। दरअसल, उसका परिवार और वकील पिछले लंबे अरसे से महाराजगंज और गौतमबुद्ध नगर के बीच आवागमन को लेकर चिंता जाहिर कर रहे थे। उसकी सुरक्षा को लेकर अदालत और मानवाधिकार आयोग को पत्र लिखे गए थे।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.