गौतमबुद्ध नगर पंचायत चुनाव: केवल 5 ग्राम प्रधान ग्रेजुएट और 5 अनपढ़, ज्यादातर दसवीं पढ़े

केवल 5 ग्राम प्रधान ग्रेजुएट और 5 अनपढ़, ज्यादातर दसवीं पढ़े

Google Photo | Symbolic Photo

गौतमबुद्ध नगर में करीब 10 वर्ष बाद पंचायतों के चुनाव हुए हैं। तीन क्षेत्रों दादरी, बिसरख और जेवर में 88 ग्राम प्रधानों का चुनाव करवाया गया है। निर्वाचित ग्राम प्रधानों के हलफनामों का विश्लेषण करने पर पता चलता है कि पढ़ाई-लिखाई के मामले में स्थिति कुछ खास नहीं है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिले में केवल 5 ग्रेजुएट ग्राम प्रधान पंचायतों की बागडोर संभालेंगे। वहीं, 5 ग्राम प्रधान अनपढ़ भी हैं। ज्यादातर के शिक्षा आठवीं और दसवीं है। प्राइमरी तक पढ़ने वालों की संख्या भी अच्छी खासी है।

बिसरख क्षेत्र में केवल एक ग्राम प्रधान ग्रेजुएट है
सबसे पहले बिसरख क्षेत्र की बात करते हैं। इस इलाके में 24 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें से 7 ग्राम पंचायत महिलाओं के लिए आरक्षित थीं। 17 ग्राम पंचायतों पर अलग-अलग आरक्षण के हिसाब से महिला और पुरुष चुनाव लड़ सकते थे। इन 24 ग्राम प्रधानों में केवल एक ग्राम प्रधान ग्रेजुएट हैं। इस्लामाबाद कल्दा ग्राम पंचायत के नवनिर्वाचित प्रधान रविंद्र नागर स्नातक हैं। महिला ग्राम प्रधानों में सबसे बड़ी शैक्षिक योग्यता इंटरमीडिएट है। तातारपुर ग्राम पंचायत की प्रधान नीतू और महावड ग्राम पंचायत की प्रधान प्रियंका इंटरमीडिएट पास हैं। रसूलपुर डासना ग्राम पंचायत की प्रधान आशा निरक्षर हैं। इस क्षेत्र के 24 ग्राम प्रधानों में से 12 हाईस्कूल पास हैं। दो इंटरमीडिएट हैं। तीन जूनियर हाईस्कूल हैं। एक निरक्षर और 4 ग्राम प्रधान केवल पांचवी तक पढ़े हैं।

जेवर क्षेत्र में 4 ग्राम प्रधान स्नातक तो 4 अनपढ़ हैं
जेवर खंड विकास क्षेत्र में 34 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें से 9 ग्राम पंचायत महिलाओं के लिए आरक्षित थीं, लेकिन इस क्षेत्र में 15 महिलाएं ग्राम प्रधान निर्वाचित हुई हैं। महिला ग्राम प्रधानों में एक स्नातक हैं। यह चचूरा गांव की प्रधान सुनीता सिंह हैं। तीन इंटरमीडिएट तक पढ़ी हैं। एक महिला ग्राम प्रधान निरक्षर हैं। पांच महिलाएं प्राइमरी तक पढ़ी लिखी हैं। अब अगर बाकी ग्राम प्रधानों की बात करें तो 3 और ग्राम प्रधान स्नातक हैं। भवोकरा ग्राम पंचायत के प्रधान यतेंद्र कुमार अत्री, अलाउद्दीनपुर उर्फ ढूढेरा के प्रधान मोहित कुमार शर्मा और मेवला गोपालगढ़ के ग्राम प्रधान ईश्वर चंद स्नातक हैं। 2 पुरुष ग्राम प्रधान भी अनपढ़ हैं। इनमें झुप्पा गांव के सुरेंद्र सिंह, मंडपा गांव के प्रधान उस्मान निरक्षर और राजपुर कलां गांव के प्रधान गौरव 10वीं पास हैं। सात ग्राम प्रधान प्राइमरी तक पढ़े हैं। बाकी ग्राम प्रधान हाई स्कूल और इंटरमीडिएट तक पढ़े-लिखे हैं।

दादरी ब्लॉक में लुहारली गांव की प्रधान ग्रेजुएट हैं
अभी दादरी खंड विकास क्षेत्र के सभी ग्राम प्रधानों के हलफनामे प्राप्त नहीं हुए हैं। 13 ग्राम प्रधानों से संबंधित सूचनाएं उपलब्ध करवाई गई हैं। इनमें लोहारली गांव की प्रधान प्रियंका ग्रेजुएट हैं। खटाना धीरखेड़ा गांव की प्रधान कुंती, जारचा की प्रधान सुमन और छांयसा ग्राम पंचायत की प्रधान बबीता भी जूनियर हाई स्कूल तक पढ़ी हैं। ऊपरालसी गांव की प्रधान उषा देवी और गुलावठी खुर्द गांव की प्रधान प्रभा देवी पांचवीं पास हैं। बढ़पुरा की प्रधान संजू और भोगपुर की प्रधान रेखा भी प्राइमरी तक पढ़ी हैं। चिटहेरा ग्राम पंचायत की प्रधान नेहा दसवीं पास हैं।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.