ग्रेटर नोएडा में इंडस्ट्री या कॉलेज खोलने का सुनहरा मौका, रितु माहेश्वरी करने वाली हैं यह बड़ा काम

खास खबर : ग्रेटर नोएडा में इंडस्ट्री या कॉलेज खोलने का सुनहरा मौका, रितु माहेश्वरी करने वाली हैं यह बड़ा काम

ग्रेटर नोएडा में इंडस्ट्री या कॉलेज खोलने का सुनहरा मौका, रितु माहेश्वरी करने वाली हैं यह बड़ा काम

Tricity Today | बैठक

ग्रेटर नोएडा में इंडस्ट्री या कॉलेज खोलने का सुनहरा मौका, रितु माहेश्वरी करने वाली हैं यह बड़ा काम
  • - प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने की विभागवार समीक्षा
  • - आवंटन रद्द होने से प्राप्त भूखंडों को भी स्कीमों में शामिल करने के निर्देश
Greater Noida : अगर आप ग्रेटर नोएडा में इंडस्ट्री, वाणिज्यिक, रिहायश या फिर शिक्षण संस्थान में निवेश करना चाहते हैं तो तैयारी कर लें। आपको शीघ्र मौका मिलने वाला है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण बहुत जल्द इनकी स्कीमें लांच करने जा रहा है।  ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने बृहस्पतिवार को इंडस्ट्री, वाणिज्यिक, बिल्डर और संस्थागत विभाग की समीक्षा की। सीईओ ने इन सभी विभागों को एक सप्ताह में स्कीमें लांच करने के निर्देश दिए। इन स्कीमों के ब्रोशर को भी अंतिम रूप दे दिया गया है। बकाया भुगतान व प्रोजेक्ट पूरा न कर पाने के चलते अब तक जो भूखंड निरस्त हो चुके हैं, उनको कब्जे में लेकर इन स्कीमों में शामिल करते हुए आवंटित करने के निर्देश दिए हैं।

60 हजार करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य
लंबे अर्से बाद बिल्डर ग्रुप हाउसिंग भूखंड योजना भी शीघ्र लांच होने जा रही है। संस्थागत की स्कीम में हॉस्पिटल, शिक्षण संस्थान, डाटा सेंटर के भूखंड शामिल रहेंगे। इसके साथ ही सीईओ रितु माहेश्वरी ने फरवरी में प्रस्तावित इनवेस्टर समिट की तैयारियों  की भी समीक्षा की। 60 हजार करोड़ रुपये के निवेश के लक्ष्य को पाने के लिए रोडमैप तैयार कर तत्काल जुट जाने को कहा है। इसके लिए सीईओ ने विभागों को निवेश कराने के साप्ताहिक लक्ष्य भी दे दिए हैं। समीक्षा बैठक में एसीईओ अदिति सिंह, दीप चंद्र, प्रेरणा शर्मा, अमनदीप डुली व आनंद वर्धन और ओएसडी सौम्य श्रीवास्तव समेत सभी वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद रहे।

बड़े बकाएदारों के आवंटन रद्द करने के दिए निर्देश
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने विभागवार समीक्षा बैठक में आवंटियों पर बकाया धनराशि की प्राप्ति पर भी चर्चा की और लंबे अर्से से बकाया भुगतान न करने वाले आवंटियों के आवंटन शीघ्र निरस्त करने के निर्देश दिए। सीईओ ने कहा कि जिन आवंटियों  पर बकाया रकम अधिक है उनका आवंटन पहले रद्द किया जाएं। उनके बाद कम रकम वाले बकाएदारों के आवंटन रद्द किए जाएंगे। आवंटन रद्द करने के साथ ही भूखंडों पर प्राधिकरण के कब्जे की कार्रवाई भी तत्काल पूरी की जाए। ये भूखंड नई योजनाओं में शामिल कर आवंटिए किए जाएंगे, ताकि नए निवेशकों को मौका मिले। इससे ग्रेटर नोएडावासियों को भी फायदा मिलेगा। निवेश से प्राप्त होने वाली रकम से विकास कार्य और तेज होंगे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.