स्वच्छ पानी की बर्बादी पर प्राधिकरण ने फर्म पर लगाया दो लाख का जुर्माना, दोबारा गलती की तो...

Greater Noida : स्वच्छ पानी की बर्बादी पर प्राधिकरण ने फर्म पर लगाया दो लाख का जुर्माना, दोबारा गलती की तो...

स्वच्छ पानी की बर्बादी पर प्राधिकरण ने फर्म पर लगाया दो लाख का जुर्माना, दोबारा गलती की तो...

Tricity Today | सेक्टर ईटा-वन में स्वच्छ पानी की बर्बादी

स्वच्छ पानी की बर्बादी पर प्राधिकरण ने फर्म पर लगाया दो लाख का जुर्माना, दोबारा गलती की तो... Greater Noida : ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सेक्टर ईटा-वन में स्वच्छ पानी की बर्बादी होने पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जल विभाग ने एसके बिल्डर्स पर दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। नकलूप पर कार्यरत कर्मचारी की लापरवाही के चलते स्वच्छ जल का नुकसान हुआ। प्राधिकरण ने फर्म को दोबारा ऐसी गलती होने पर और कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। 

दोनों फर्मों पर लगा 2 लाख का जुर्माना
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जल विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक कपिल सिंह ने बताया कि सेक्टर ईटा-वन में 22 नवंबर को अपर जलाशय और 23 नवंबर को भूमिगत जलाशय के ओवरफ्लो होने से पानी सड़क पर बहने की सूचना मिली। जल विभाग की टीम ने मौके पर जाकर जायजा लिया। नलकूप पर तैनात कर्मचारी की लापरवाही के चलते ओवरफ्लो होने के कारण पानी बर्बाद होने की बात सामने आई, जिसके चलते प्राधिकरण के जल विभाग की तरफ से एसके बिल्डर्स नाम की फर्म पर दो दिन पानी बर्बाद करने के कारण एक-एक लाख (कुल दो लाख) रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जुर्माने की यह रकम फर्म को होने वाले भुगतान में से कटौती कर की जाएगी। 

दोबारा गलती होने पर फिर होगी कार्रवाई
साथ ही उसे चेतावनी दी गई है कि दोबारा ऐसी गलती हुई तो और कठोर कार्रवाई की जाएगी। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने इस तरह की गलती की पुनरावृत्ति रोकने के लिए सभी फर्मों को अलर्ट करने के निर्देश जल विभाग को दिए हैं। उन्होंने ग्रेटर नोएडावासियों से भी अपील की है कि पानी का एक-एक बूंद बहुत कीमती है। इसे बहुत संभाल कर खर्च करें। अगर कहीं पर पानी की बर्बादी दिखे तो उसकी सूचना तत्काल प्राधिकरण की टीम को जरूर दें। पानी की बर्बादी रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.