जहरीली शराब फैक्ट्री : पुलिस ने कसा शिकंजा, फैक्ट्री मालिक सहित 7 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, तीन हवालात पहुंचे

पुलिस ने कसा शिकंजा, फैक्ट्री मालिक सहित 7 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, तीन हवालात पहुंचे

Tricity Today | ग्रेटर नोएडा में अवैध शराब का जखीरा बरामद हुआ

गौतमबुद्ध नगर आबकारी विभाग ने सोमवार को अवैध और जहरीली शराब की फैक्ट्री चलाने के आरोप में फैक्ट्री मालिक सुरेंद्र शर्मा के खिलाफ कासना कोतवाली में मुकदमा दर्ज करा दिया है। सोमवार को जिला प्रशासन और आबकारी विभाग ने संयुक्त रूप से कार्रवाई की। फैक्ट्री मालिक के साथ-साथ मृतक प्रदीप और संतोष शर्मा के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। बहुचर्चित शराब कांड में कालू उर्फ सुरेंद्र, मिंकू उर्फ चंद्रभान और दो डीलर नीरज तथा शशांक पर भी आबकारी और पुलिस विभाग की गाज गिरी है। इन सबके खिलाफ भी केस फाइल हुई है। 

बताते चलें कि बुलंदशहर पुलिस ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस को ग्रेटर नोएडा में अवैध शराब के काले कारोबार की जानकारी दी थी। बुलंदशहर पुलिस से मिली सूचना के आधार पर गौतमबुद्ध नगर पुलिस और आबकारी विभाग ने संयुक्त रुप से अभियान चलाया। सूचना के आधार पर पुलिस ने ग्रेटर नोएडा की उस फैक्ट्री पर छापेमारी की। बुलंदशहर में जहरीली शराब कांड के एक अभियुक्त सुरेंद्र ने इसका खुलासा किया था। दरअसल, उसने खुद भी शराब पी थी। जिसके असर से वह बेहोश हो गया था। उसे ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती करवाया गया था। 

रविवार को सुरेंद्र को होश आया था। जिसके बाद बुलंदशहर पुलिस ने उससे पूछताछ की थी। इस पूछताछ के बाद बुलंदशहर पुलिस ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस को पूरी जानकारी दी और रविवार की शाम यूपीएसआईडीसी की साइट फाइव में छापामारी की गई। सुरेंद्र के बताए अनुसार दो शव फैक्ट्री में पड़े मिले। इसके अलावा फैक्ट्री में 36 पेटी शराब मिली है। दस खाली ड्रम भी मिले हैं। पुलिस की टीम ने फैक्ट्री से एक बाइक व एक स्कूटी भी बरामद की है। 

कासना कोतवाली प्रभारी विवेक त्रिवेदी ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नामजद आरोपी फैक्ट्री मालिक सुरेंद्र शर्मा तथा दोनों डीलर नीरज और शशांक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। नीरज और शशांक ने ही फैक्ट्री को किराए पर दिलवाया था। मुकदमे में नामजद एक आरोपी कालू उर्फ सुरेंद्र शर्मा का पुलिस की निगरानी में सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है। जबकि इस घटना का मुख्य आरोपी मिंकू उर्फ चंद्रभान अभी फरार है। पुलिस की टीमें उसकी तलाश में जुटी हैं। फैक्ट्री का एग्रीमेंट चंद्रभान के नाम पर हुआ था।

तैयार था मौत का सामान
पुलिस और आबकारी विभाग के संयुक्त ऑपरेशन में फैक्ट्री से भारी मात्रा में जहरीली शराब बरामद की गई है। अगर शराब का यह जखीरा लोगों तक पहुंच जाता, तो सैकड़ों लोगों की जान जा सकती थी। पर गनीमत रही कि शराब की सप्लाई नहीं हुई थी। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि फैक्ट्री से बरामद शराब कैसी है। आबकारी विभाग की टीम ने शराब का सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेज दिया है। 

70 रुपये में बेचते थे
फैक्ट्री के अंदर से बरामद शराब के पव्वा पर मिस इंडिया का लेबल लगा था। इस पर 70 रुपये कीमत लिखी थी। आरोपी तस्कर 70 रुपए में लोगों को जहरीली शराब बेच रहे थे। पर गनीमत रही कि फैक्ट्री में बनी जहरीली शराब ज्यादा लोगों तक नहीं पहुंची। वक्त रहते अवैध शराब के जखीरे को पुलिस ने कब्जे में ले लिया और बड़ा हादसा होने से बच गया।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.