अधिवक्ता से मकान बेचने के नाम पर लाखों की ठगी, अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी

ग्रेटर नोएडा: अधिवक्ता से मकान बेचने के नाम पर लाखों की ठगी, अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी

अधिवक्ता से मकान बेचने के नाम पर लाखों की ठगी, अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी

Google Image | प्रतीकात्मक तस्वीर

अधिवक्ता से मकान बेचने के नाम पर लाखों की ठगी, अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी Greater Noida: कोतवाली बीटा-2 के सेक्टर गामा-1 निवासी एक अधिवक्ता से कुछ लोगों ने मकान बेचने के नाम पर धोखाधड़ी कर ली। पीड़ित का आरोप है कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्यवाई नहीं कर रही है। मामले में आरोपियों के खिलाफ अदालत से गैर जमानती वारंट जारी हो चुके हैं, इसके बावजूद आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। अधिवक्ता ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत कर आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की है।

जानकारी के मुताबिक सेक्टर गामा-1 निवासी अधिवक्ता राजीव चौधरी ने बताया कि सेक्टर पी-3 निवासी मिकांशु जुलानियां व अन्य लोगों ने 45 लाख रुपये में उन्हें एक मकान बेचने की डील की थी। पीड़ित अधिवक्ता ने इसमें काफी रकम अदा भी कर दी लेकिन बाद में उसे पता चला कि जिस मकान को वह खरीद रहा है, उस पर बैंक का लोन बकाया है। इसके चलते उसने तुरंत दूसरी पार्टी से डील रद्द कर दी। 


आरोप है कि मकान बेचने वाले लोगों ने उसके रुपये नहीं लौटाए। इस पर पीड़ित ने मामले की रिपोर्ट कोतवाली बीटा-2 में दर्ज करा दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा था और हाईकोर्ट ने आरोपी को 10 लाख रुपये अदा करने की शर्त पर जमानत दी थी। अधिवक्ता का आरोप है कि आरोपी ने 10 लाख रुपये अब तक अदा नहीं किए हैं। इस पर अदालत ने आरोपी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी कर दिया। इसके बावजूद अब तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

एडीसीपी ग्रेटर नोएडा ज़ोन विशाल पांडे ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है। आरोपी की जल्द गिरफ्तार नहीं होने पर उसके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.