ग्रेटर नोएडा की पार्श्ववी चोपड़ा का न्यूजीलैंड के खिलाफ अंडर-19 क्रिकेट टीम में चयन, 16 की उम्र में श्रीलंका में गाड़ा था झंडा

शहर की शान ग्रेटर नोएडा की पार्श्ववी चोपड़ा का न्यूजीलैंड के खिलाफ अंडर-19 क्रिकेट टीम में चयन, 16 की उम्र में श्रीलंका में गाड़ा था झंडा

ग्रेटर नोएडा की पार्श्ववी चोपड़ा का न्यूजीलैंड के खिलाफ अंडर-19 क्रिकेट टीम में चयन, 16 की उम्र में श्रीलंका में गाड़ा था झंडा

Tricity Today | पार्श्ववी चोपड़ा

ग्रेटर नोएडा की पार्श्ववी चोपड़ा का न्यूजीलैंड के खिलाफ अंडर-19 क्रिकेट टीम में चयन, 16 की उम्र में श्रीलंका में गाड़ा था झंडा Greater Noida : ग्रेटर नोएडा में रहने वाली एक 19 साल की लड़की ने ना ही केवल गौतमबुद्ध नगर, बल्कि बुलन्दशहर समेत पूरे यूपी का नाम रोशन किया है। ग्रेटर नोएडा में रहने वाले 19 साल की पार्श्ववी चोपड़ा का न्यूजीलैंड के खिलाफ अंडर-19 महिला क्रिकेट टीम में चयन हुआ है। वह भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच खेलेंगी।

अब तक 150 से अधिक मेडल जीते
19 साल की पार्श्ववी चोपड़ा अपने परिवार के साथ ग्रेटर नोएडा में स्थित प्लुमेरिया गार्डन हाउसिंग सोसाइटी में रहती हैं। पार्श्ववी चोपड़ा के पिता गौरव चोपड़ा ने बताया कि उनकी बेटी अब तक 150 से भी अधिक मेडल जीत चुकी हैं। उन्होंने केवल 16 साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ शानदार मैच खेला था। जिसके बाद वह लगातार आगे ही तरफ बढ़ती गई। 

एक अच्छी स्पिनर भी हैं पार्श्ववी चोपड़ा
गौरव चोपड़ा ने बताया कि चयनकर्ताओं द्वारा उनके समर्पण, कड़ी मेहनत और प्रदर्शन को पहचाना जा रहा है। वह न केवल एक अच्छी स्पिनर हैं, बल्कि अच्छी बल्लेबाजी भी करती हैं। पिछले मैच में उनका प्रदर्शन शानदार था और उन्हें "बॉलर ऑफ द मैच" के रूप में सम्मानित किया गया था।

अपने दादा से क्रिकेट खेलना सीखा था
पार्श्ववी चोपड़ा बात करते हुए बताया कि उन्होंने केवल 10 साल की उम्र से मैच खेलना शुरू किया था। उन्होंने अपने दादा परशुराम चोपड़ा से क्रिकेट खेलना सीखा था। अपने समय में उनके दादा मेरठ यूनिवर्सिटी में क्रिकेट टीम के कप्तान थे। उसके बाद उन्होंने उन्होंने अपने कोच जेपी कोटियाल से क्रिकेट की क्लास ली। उन्होंने ग्रेटर नोएडा के विजय पथिक स्टेडियम में तैयारी की है।

दसवीं क्लास की छात्र हैं पार्श्ववी चोपड़ा
पार्श्ववी चोपड़ा सिकंदराबाद के बीबीएस स्कूल, स्कूल में दसवीं क्लास की छात्र हैं। उनका एक छोटा भाई है, जो इस समय आठवीं क्लास में पढ़ रहा है। उनके पिता गौरव चोपड़ा रियल स्टेट में है और उनकी माता ग्रहणी है। पार्श्ववी चोपड़ा का कहना है कि उनके दादा चाहते थे कि एक दिन वह अपने देश के लिए विदेश में जाकर खेलें। पार्श्ववी चोपड़ा का कहना है कि वह अपने दादा के सपने को पूरा करना चाहती है। पार्श्ववी चोपड़ा कल यानी कि 24 नवंबर को न्यूजीलैंड के लिए रवाना हो जाएंगी। न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 मैच होंगे। उसके बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम साउथ अफ्रीका के साथ खेलेगी।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.