रवि कुमार नटवरलाल की जमानत याचिका खारिज, ट्रांसलेटर बनकर भारत को पहुंचाया था बड़ा नुकसान

ग्रेटर नोएडा में चीनी स्लीपर सेल का अड्डा : रवि कुमार नटवरलाल की जमानत याचिका खारिज, ट्रांसलेटर बनकर भारत को पहुंचाया था बड़ा नुकसान

रवि कुमार नटवरलाल की जमानत याचिका खारिज, ट्रांसलेटर बनकर भारत को पहुंचाया था बड़ा नुकसान

Tricity Today | रवि कुमार नटवरलाल

रवि कुमार नटवरलाल की जमानत याचिका खारिज, ट्रांसलेटर बनकर भारत को पहुंचाया था बड़ा नुकसान Greater Noida : बीते 11 जून को भारत नेपाल बॉर्डर से सीमा सशस्त्र बल ने दो चीनी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जांच के दौरान इनके काफी साथी भी पकड़े गए। जिसमें मुख्य रवि कुमार नटवरलाल और प्रदीप है। रवि कुमार नटवरलाल और प्रदीप समेत तीन लोगों ने जमानत याचिका खारिज दाखिल की थी, लेकिन इन तीनों की जमानत याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दी है। इन सभी लोगों ने भारत की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचाया है। इनके ऊपर हवाला कारोबार और स्क्रैप कारोबार से भी जुड़ने का आरोप है।

क्या है पूरा मामला
भारत-नेपाल बॉर्डर पर सीमा सशत्र बल ने 11 जून दो चीनी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया था। इनसे हुई पूछताछ में चौंकाने वाली बातें सामने आईं थी। दोनों चाइनीज घुसपैठिए ग्रेटर नोएडा में करीब 15 दिन तक रहकर गए थे और नेपाल बॉर्डर से वापस भाग रहे थे, तभी सीमा सशस्त्र बल ने गिरफ्तार किया। दोनों चीन से थाईलैंड होते हुए काठमांडू के रास्ते भारत आए थे। दोनों ने बताया कि नोएडा में अपने दोस्त के पास 15 दिनों तक रहे थे। यह जानकारी मिलने के बाद नोएडा पुलिस और इंटेलिजेंस ने आनन-फानन में उन लोगों का पता लगाया, जिनके पास दोनों चीनी घुसपैठ के 15 दिनों तक रहे। इसी सिलसिले में ग्रेटर नोएडा पुलिस ने गुरुग्राम से दो गिरफ्तारी की थी। जिसमें एक चीनी नागरिक सु फाइ और दूसरी उसकी प्रेमिका है। सु फाइ का करीबी रवि कुमार नटवरलाल है।

सु फाइ का सबसे करीबी रवि कुमार नटवरलाल
रवि कुमार नटवरलाल पर सु फाइ को सबसे ज्यादा विश्वास था। इसी वजह से उसने रवि कुमार नटवरलाल को अपनी सभी कंपनियों का निदेशक बनाया। हालांकि, सभी कंपनियां फर्जी हैं। इन कंपनियों के माध्यम से करीब 20 करोड़ रुपए की ट्रांजैक्शन की गई। पुलिस ने रवि कुमार की 2 बीएमडब्ल्यू गाड़ी और एक महिंद्रा थार गाड़ी को पहले ही अपने कब्जे में लिया था। रवि कुमार इस समय नोएडा के सेक्टर-143 में स्थित गुलशन एकेबाना हाउसिंग सोसाइटी में रहता था।

रवि कुमार नटवरलाल की मां चीनी और पिता गुजराती है
रवि कुमार नटवरलाल की मां चीन की निवासी है और उसके पिता गुजराती है। रवि कुमार नटवरलाल के पिता चाइना गए थे और उसी दौरान उनको चीनी महिला से प्यार हो गया। दोनों ने शादी कर ली और काफी समय तक चीन में रहे थे। सूत्रों का दावा है कि रवि कुमार नटवरलाल का संपर्क चीन में ही सु फाइ से हुआ था। उसके बाद सु फाइ और रवि कुमार नटवरलाल में गहरी दोस्ती हो गई थी।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.