जेवर एयरपोर्ट के नीचे से गुजरेगी हाई स्पीड रेल, अंडरग्राउंड होगा स्टेशन, मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी का खाका तैयार

बड़ी खबर : जेवर एयरपोर्ट के नीचे से गुजरेगी हाई स्पीड रेल, अंडरग्राउंड होगा स्टेशन, मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी का खाका तैयार

जेवर एयरपोर्ट के नीचे से गुजरेगी हाई स्पीड रेल, अंडरग्राउंड होगा स्टेशन, मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी का खाका तैयार

Tricity Today | Symbolic Photo

जेवर एयरपोर्ट के नीचे से गुजरेगी हाई स्पीड रेल, अंडरग्राउंड होगा स्टेशन, मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी का खाका तैयार Gautam Buddh Nagar : नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) को मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी देने की तैयारियां जोरों से चल रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को इसका प्रेजेंटेशन दिया गया है। यूपी के प्रमुख एयरपोर्ट में से एक होने की वजह से जेवर एयरपोर्ट को सड़क, रेल, मेट्रो और हाई स्पीड रेल के साथ जोड़ने की तैयारी पूरी हो गई है। 

बड़ी बात यह है कि हाई स्पीड रेल जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नीचे से गुजरेगी। इसका खाका खींच लिया गया है। मतलब हाई स्पीड रेल का स्टेशन जेवर एयरपोर्ट के अंडरग्राउंड में होगा। दूसरी तरफ राज्य सरकार और प्रशासन ने एयरपोर्ट के शिलान्यास की तैयारी पूरी कर ली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यालय से तिथि मिलते ही इसका शिलान्यास कराया जाएगा।

हर तरफ से कनेक्टिविटी होगी
जानकारी के मुताबिक जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी के तहत चारों तरफ से सड़क मार्ग से जोड़ने की पहल शुरू हो गई है। खास बात यह है कि यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna Expressway) को सीधे एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए जीरो पॉइंट से 32 किलोमीटर की दूरी पर एक इंटरचेंज बनेगा। इसके तैयार होने के बाद आगरा की तरफ से आने वाले लोग एयरपोर्ट जा सकेंगे। साथ ही जीरो पॉइंट से पांच किलोमीटर आगे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे पर इंटरचेंज बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। 

यह इंटरचेंज सेक्टर-17 के पास होगा। एक्सप्रेसवे को एयरपोर्ट तक जोड़ने वाली सड़क लगभग 100 मीटर चौडी होगी। इसके साथ ही 60 मीटर की सर्विस रोड निर्मित की जाएगी। ग्रेटर नोएडा से आरम्भ होने वाली 130 मीटर सड़क से कार्गो ढुलाई का काम होगा। खुर्जा-बुलंदशहर मार्ग को पूर्वी दिशा से एयरपोर्ट से कनेक्ट करने की योजना बनाई गई है। यह सड़क लगभग 24 मीटर या इससे ज्यादा चौड़ी होगी। 

दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे से जुड़ेगा
इसी तरह दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए बल्लभगढ़ तक 6 लेन का हाईवे बनाया जाएगा। यह कुल 31 किलोमीटर लंबी सड़क होगी। इसमें 24 किलोमीटर का निर्माण हरियाणा में और 7 किलोमीटर का निर्माण गौतमबुद्ध नगर में होगा। इस लिंक रोड के भूमि अधिग्रहण के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने तैयारी शुरू कर दी है। जिला प्रशासन को भूमि अधिग्रहण करने को कहा है।

मेट्रो से कनेक्टिविटी होगी
जेवर एयरपोर्ट को मेट्रो से जोड़ा जाएगा। परी चौक से जेवर तक लगभग 35 किलोमीटर लंबे रूट पर सिर्फ पांच स्टेशन बनाए जाएंगे। पहले ज्यादा स्टेशन प्रस्तावित थे। मगर ज्यादा स्टेशनों के कारण यात्रा में वक्त ज्यादा लगेगा। इसी लिए सिर्फ पांच स्टेशन बनाने पर सहमति बनी। इसी तरह परीचौक से शिवाजी स्टेडियम तक मेट्रो कनेक्टिविटी का प्लान तैयार किया जा रहा है। शिवाजी स्टेडियम की मेट्रो पहले से ही आईजीआई एयरपोर्ट से जुड़ी है।

रेल नेटवर्क से जुड़ेगा
जेवर एयरपोर्ट रेलवे से भी जुड़ेगा। बोडाकी में मॉडर्न रेलवे स्टेशन निर्मित होगा। यहीं पर मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट होगा। यह मेट्रो, बस, रेल से जुड़ेगा। इस स्टेशन के बन जाने के बाद एनसीआर के यात्रियों को अपने वाहन से दिल्ली जाने की जरूरत नहीं होगी। वे यहीं से सीधे एयरपोर्ट या मेट्रो में जा सकेंगे। 

इससे सड़कों पर प्राइवेट वाहनों का दबाव कम होगा। इससे न सिर्फ ट्रैफिक जाम से छूटकारा मिलेगा, वरन प्रदूषण और पर्यावरण के लिएभी बेहतर होगा। हाईस्पीड रेल की डीपीआर फाइनल हो चुकी है। दिल्ली का सराय कालेखां इसका पहला स्टेशन होगा। इसके बाद यह ट्रेन नोएडा के सेक्टर-148 में रूकेगी। इसका तीसरा स्टेशन नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के रनवे के नीचे होगा। मतलब जेवर एयरपोर्ट यातायात के हर विकल्प से जुड़ा रहेगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.