ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के 6% आबादी भूखंड घोटाले में मैनेजर सस्पेंड, नंदी ने की कार्रवाई

BIG BREAKING : ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के 6% आबादी भूखंड घोटाले में मैनेजर सस्पेंड, नंदी ने की कार्रवाई

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के 6% आबादी भूखंड घोटाले में मैनेजर सस्पेंड, नंदी ने की कार्रवाई

Tricity Today | नन्द गोपाल नन्दी

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के 6% आबादी भूखंड घोटाले में मैनेजर सस्पेंड, नंदी ने की कार्रवाई
  • - अनुमोदन के बगैर 17 किसानों को आवंटन पत्र देने के आरोप
  • -अनियमितता, कदाचार एवं भ्रष्टाचार के आरोप में की गई है कार्रवाई 
  • - औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने की कार्रवाई
  • - अनुशासनिक कार्यवाही के साथ सीईओ नोएडा ऋतु माहेश्वरी को जांच सौंपी
Lucknow/Greater Noida : उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के प्रबंधक दिगम्बर सिंह को तत्काल प्रभाव से निम्बित करने व उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है। साथ ही नोएडा विकास प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु माहेश्वरी को इस मामले में जांच अधिकारी नामित कर दिया है। प्रबंधक दिगम्बर सिंह के खिलाफ अनियमितता पूर्ण तरीके से अनुमोदन के बगैर 17 किसानों को आरक्षण-आवंटन पत्र जारी करने के आरोप हैं। जिस पर यह कार्रवाई की गई।

क्या है पूरा मामला
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण अधिग्रहीत भूमि के सापेक्ष किसानों को आबादी विस्तार के लिए भूखंडों का आवंटन करता है। इसके लिए कृषकों की पात्रता निर्धारित की जाती है। गठित समिति की बैठक 25 जुलाई 2022 को हुई थी। जिसमें कुल 26 प्रकरणों में से समिति द्वारा केवल छह प्रकरणों को अनुमोदित किया गया। शेष प्रकरणों को समिति की आगामी बैठक में प्रस्तुत करने का निर्णय लिया गया था। लेकिन अनुमोदित 6 प्रकरणों में से 4 प्रकरणों में आरक्षण-आवंटन पत्र निर्गत करने के अलावा 17 और प्रकरण, जिन्हें समिति द्वारा अनुमोदित ही नहीं किया गया था, उनमे भी आरक्षण-आवंटन पत्र दिनांक 28 जुलाई 2022 और 1 अगस्त 2022 को निर्गत कर दिए गए।

"दिगम्बर सिंह ने प्राधिकरण और सरकार की छवि धूमिल की"
मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि दिगम्बर सिंह ने दूषित भावना के तहत षडयंत्र करके अपात्र किसानों को अनुचित लाभ पहुंचाया है। दिगम्बर सिंह प्रबंधक ग्रेटर नोएडा का यह कार्य अपने पदीय दायित्वों के निर्वहन में घोर अनियमितता, कदाचार और भ्रष्टाचार का द्योतक है। उनके इस कृत्य से प्राधिकरण और सरकार की छवि धूमिल हुई है। जिस पर मंत्री नन्दी ने प्रबंधक दिगम्बर सिंह को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करते हुए अनुशासनिक कार्यवाही के निर्देश दिए है। नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु माहेश्वरी को जांच अधिकारी नामित करते हुए जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। आपको बता दें कि औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने जब से औद्योगिक विकास विभाग की जिम्मेदारी सम्भाली है, तब से लेकर अब तक नियमविरूद्ध व मनमाना तरीके से कार्रवाई करने वाले करीब आधा दर्जन अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.