कोरोना कंट्रोल: मैदान में उतरे नरेंद्र भूषण, आज ये 6 बड़े फैसले लिए, बोले- घबराएं नहीं शहर के लोग

मैदान में उतरे नरेंद्र भूषण, आज ये 6 बड़े फैसले लिए, बोले- घबराएं नहीं शहर के लोग

Tricity Today | नरेंद्र भूषण ने आज 6 बड़े फैसले लिए

COVID-19 in Noida : गौतमबुद्ध नगर में कोरोनावायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण (Noida Authority) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण को नोडल अफसर नियुक्त कर दिया है। नरेंद्र भूषण (Narendra Bhushan IAS) ने हालात संभालने के लिए फैसले लेने शुरू कर दिए हैं। इसी सिलसिले में शुक्रवार की दोपहर बाद जिलेभर के अफसरों के साथ नोएडा कोविड-19 कंट्रोल रूम में बैठक की। नरेंद्र भूषण ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को बड़े फैसले लेने का आदेश दिया है। इस दौरान अभियान से जुड़े डेमो देखे गए हैं। नरेंद्र भूषण ने कहा है कि शहर के लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। स्थिति नियंत्रण में है। जल्दी ही हालात सामान्य कर लिए जाएंगे।
  1. जिले के एल वन अस्पताल एल टू में बदले जाएंगे : नरेंद्र भूषण ने गौतमबुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को आदेश दिया कि इस वक्त जिले में जितने भी एल वन फैसिलिटी इस वाले अस्पताल हैं, उन्हें जल्दी से जल्दी एल टू में बदल दिया जाए। आपको बता दें कि एल वन कैटेगरी के अस्पतालों में बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध नहीं करवाई जाती है। सामान्य रूप से संक्रमण की चपेट में आने वाले मरीजों को इन अस्पतालों में भर्ती किया जाता है। एल वन अस्पताल को एल टू में बदलने पर सभी बेड ऑक्सीजन की सुविधा से युक्त हो जाएंगे।
  2. नोएडा और ग्रेटर नोएडा में स्क्रीनिंग सेंटर बनाए जाएंगे : नोएडा और ग्रेटर नोएडा में स्क्रीनिंग सेंटर बनाए जाएंगे। भर्ती करने से पहले मरीजों को इन सेंटरों पर भेजा जाएगा। सेंटर पर तैनात डॉक्टर मरीज की स्थिति देखकर तय करेंगे कि उसे किस कैटेगरी के अस्पताल में शिफ्ट किया जाए। अस्पतालों में बेड की कैपेसिटी बढ़ाई जाएगी। स्टाफ और डॉक्टरों की संख्या बढ़ाने का आदेश भी दिया है। नरेंद्र भूषण ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक गाइडलाइन जारी करने का आदेश दिया है।
  3. होम आइसोलेट मरीजों पर निगरानी बढ़ाई जाए : नरेंद्र भूषण ने स्वास्थ्य विभाग को आदेश दिया है कि जिन मरीजों को होम आइसोलेट किया गया है, उनकी निगरानी बढ़ा दी जाए। मरीजों को एकीकृत नियंत्रण कक्ष के माध्यम से प्रतिदिन कॉल्स की जानी चाहिए। उनके हालचाल की पूरी जानकारी ली जाए। होम आइसोलेट सभी मरीजों को थर्मामीटर के साथ-साथ पल्स ऑक्सीमीटर अनिवार्य रूप से अपने पास रखने के लिए कहा जाए। होम आइसोलेट मरीजों को कॉल करने वाला स्टाफ उनके बॉडी टेंपरेचर, ऑक्सीजन लेवल, खांसी और सांस लेने के बारे में पूरी जानकारी लें। अगर किसी मरीज की तबीयत बिगड़ती नजर आए तो उसे तत्काल अस्पताल में भेजा जाए।
  4. कंटेनमेंट जॉन के सैनिटाइजेशन में आरडब्ल्यूए शामिल होंगी : नरेंद्र भूषण ने स्वास्थ्य विभाग, विकास प्राधिकरण और जिला प्रशासन को आदेश दिया है कि कंटेनमेंट जोन में प्रभावी ढंग से सैनिटाइजेशन करवाया जाए। तीनों प्राधिकरण क्षेत्रों में हाउसिंग सोसाइटीज और सेक्टरों की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन व अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर उपलब्ध करवाए जाएं। सैनिटाइजेशन अभियान में इन सामाजिक संगठनों का सहयोग लिया जाए। जिले में कोविड-19 के प्रभावी उपचार के लिए शासन की ओर से समय-समय पर गाइडलाइन जारी की जा रही हैं, इनका अक्षरशः पालन किया जाना चाहिए।
  5. आरोग्य सेतु एप अपने मोबाइल में जरूर डाउनलोड करें : नरेंद्र भूषण ने गौतमबुद्ध नगर के निवासियों से अपील की है कि अपने अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कर लें। जिससे लोगों को अपने आसपास कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके लोगों के बारे में जानकारी मिलेगी। ऐप पर बचाव और इलाज से संबंधित सूचनाओं के अलर्ट मिलते रहेंगे। इन सूचनाओं का उपयोग खुद को और परिवार को संक्रमण से बचाने के लिए किया जा सकता है।
  6. कोई भी लक्षण नजर आए तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें : नरेंद्र भूषण ने जिले के लोगों से अनुरोध किया है कि अगर किसी भी व्यक्ति को बुखार, खांसी या सांस लेने में परेशानी हो रही है तो तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श और सहायता लें। इस बारे में गौतमबुद्ध नगर के कोविड-19 कंट्रोल रूम से संपर्क करें। हेल्पलाइन नंबर 1800412211 पर संपर्क कर सकते हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.