मंगेतर के चक्कर में पकड़ा गया रवि कुमार नटवरलाल, फरारी काटने के लिए खरीदी थी 3 लाख की बाइक

ग्रेटर नोएडा : मंगेतर के चक्कर में पकड़ा गया रवि कुमार नटवरलाल, फरारी काटने के लिए खरीदी थी 3 लाख की बाइक

मंगेतर के चक्कर में पकड़ा गया रवि कुमार नटवरलाल, फरारी काटने के लिए खरीदी थी 3 लाख की बाइक

Tricity Today | Ravi Kumar Natwarlal

मंगेतर के चक्कर में पकड़ा गया रवि कुमार नटवरलाल, फरारी काटने के लिए खरीदी थी 3 लाख की बाइक Greater Noida : ग्रेटर नोएडा पुलिस ने चीनी जासूस सु फाइ के करीबी रवि कुमार नटवरलाल को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया है। रवि कुमार नटवरलाल के अलावा तीन अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है। जिसमें एक महिला और दो पुरुष शामिल हैं। इनमें से एक पुरुष का नाम पुष्पेंद्र है, जो ग्रेटर नोएडा वेस्ट में रहता है।

यूपी एसटीएफ करेगी जांच
सोमवार को रवि कुमार नटवरलाल की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और खुफिया एजेंसी ने उससे पूछताछ शुरू की है। जांच के दौरान पुलिस को काफी अहम सबूत हाथ लगे हैं। भारत की खुफिया एजेंसी इस मामले में लगातार पूछताछ कर रही है। इस मामले की जांच अब यूपी एसटीएफ के हाथ में चली गई है। पुलिस को पता चला है कि रवि कुमार नटवरलाल अपनी मंगेतर से मिलने अपनी महंगी बाइक से गया था, उसी दौरान पुलिस ने उसको दबोच लिया।

2017 में चीन से आया था भारत
पुलिस को अभी तक की जांच में पता चला है कि चीनी जासूस सु फाइ के गिरफ्तार होने के बाद उसका सबसे करीबी रवि कुमार नटवरलाल फरार हो गया था। रवि कुमार नटवरलाल वर्ष 2017 में चीन से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा था, लेकिन वह पढ़ाई को छोड़कर वापस भारत आ गया था। यहां पर उसने नोएडा और गुजरात की काफी नामी कंपनियों में संपर्क किया। इस दौरान उसने काफी नामी कंपनियों में नौकरी भी की थी।

9 कंपनियों का निदेशक था रवि कुमार नटवरलाल
पूछताछ के दौरान पता चला है कि चीन में पढ़ाई की और रवि कुमार नटवरलाल की मां भी चीनी थी। जिसकी वजह से उसको चीनी भाषा आती थी। भारत में उसने चीनी नागरिकों से संपर्क किया और फर्जीवाड़ा करने शुरू कर दिया। नियमों के मुताबिक किसी भी चीनी कंपनियों को भारत में रजिस्टर्ड होने के लिए भारतीय व्यक्ति की जरूरत होती है। इसलिए ही चीनी नागरिकों ने इसको अपनी कंपनियों का निदेशक बनाया था। 

चीनी नागरिकों की बैठक में ट्रांसलेशन का काम करता था
पुलिस पूछताछ में नटवरलाल ने बताया कि वह इस समय 9 चीनी कंपनियों का निदेशक है। इनमें से एक कंपनी नोएडा में चल रही है और बाकी आठ कंपनियां सिर्फ कागजों में है। रवि कुमार नटवरलाल चाइनीस नागरिकों की बैठकों में शामिल होता था और ट्रांसलेशन का काम करता था। 

मां के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज
पुलिस को जांच के दौरान यह भी पता चला है कि रवि कुमार नटवरलाल की मां चीन की रहने वाली और उसका पिता गुजराती है। गुजरात में रवि कुमार नटवरलाल की मां के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस मामले में छानबीन कर रही है कि क्या उसकी मां ने भी भारत में कोई बड़ा गेम खेला है। इस मामले में ग्रेटर नोएडा पुलिस के अलावा भारत की खुफिया एजेंसी जांच कर रही है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.