पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र होगी राया हेरिटेज सिटी, डीपीआर में हुए ये बदलाव 

बड़ी खबर : पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र होगी राया हेरिटेज सिटी, डीपीआर में हुए ये बदलाव 

पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र होगी राया हेरिटेज सिटी, डीपीआर में हुए ये बदलाव 

Google Image | यमुना एक्सप्रेसवे

पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र होगी राया हेरिटेज सिटी, डीपीआर में हुए ये बदलाव  Greater Noida News : यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) के किनारे विकसित होने वाली राया हेरिटेज सिटी की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) में कई संशोधन किए गए हैं। हेरिटेज सिटी में पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों को प्राथमिकता दी जाएगी। यमुना प्राधिकरण ने डीपीआर बनाने वाली कंपनी को सारे तथ्यों से अवगत करा दिया है। अब कंपनी जल्द ही डीपीआर दोबारा सौंपेगी। ड्राफ्ट रिपोर्ट के मुताबिक राया हेरिटेज सिटी तीन चरणों में विकसित की जाएगी। 

यमुना प्राधिकरण 9000 हेक्टेयर में राया (मथुरा) में हेरिटेज सिटी विकसित करने की योजना बनाई है। इसके लिए सीबीआरई कंपनी को डीपीआर बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सोमवार को सीबीआरई कंपनी में यमुना प्राधिकरण के अफसरों के सामने डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट का प्रजेंटेशन दिया। इसमें कई तरह के संशोधन कराए गए हैं। कंपनी द्वारा बनाई गई डीपीआर में व्यवसायिक गतिविधियों को प्राथमिकता दी गई है। यमुना प्राधिकरण ने इस पर एतराज जताया है। 

प्राधिकरण के अफसरों ने कंपनी से कहा है कि डीपीआर में पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। इसको ध्यान में रखते हुए डीपीआर बनाएं। अब कंपनी सीबीआरई कंपनी के अधिकारी दोबारा से डीपीआर बनाएंगे। इस रिपोर्ट में पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देंगे। यमुना प्राधिकरण हेरिटेज सिटी के पहले चरण में रिवर फ्रंट और सांस्कृतिक धरोहरों को विकसित करेगा। पर्यटन जोन 731 हेक्टेयर और रिवर फ्रंट 109 हेक्टेयर में विकसित किया जाएगा। इसमें ब्रज भूमि के सांस्कृतिक और पर्यटन को केंद्र में रखा जाएगा।

राया हेरिटेज सिटी के बराबर से गुजरेगी बुलेट ट्रेन
इसके अलावा बरेली से भरतपुर तक स्टेट हाईवे है, जो इस शहर को छूते हुए निकलेगा। रेल कनेक्टिविटी भी बहुत बेहतर है। राया रेलवे स्टेशन प्रस्तावित सिटी से सिर्फ 5 किलोमीटर दूर है। बुलेट ट्रेन भी इस परियोजना के बगल से निकलेगी। दिल्ली बनारस वाला बुलेट ट्रेन का ट्रैक इसी शहर के किनारे से गुजरेगा। इसलिए इससे भी इसकी कनेक्टिविटी मिल सकती है। जिस इलाके में राया सिटी विकसित की जानी है, वह टीटी जेड (ताज ट्रपैजियम जोन) में आता है। 2024-26 के बीच में पहला चरण विकसित किया जाएगा। दूसरा चरण 2027 से 30 के बीच में विकसित करने की तैयारी है। 2031 के बाद तीसरा और अंतिम चरण विकसित होगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.