जेवर एयरपोर्ट के लिए जमीन देने वाले 6 गांवों के किसानों को नहीं मिला हक, अभी तक अटकी पड़ी प्लॉटों की रजिस्ट्री

Greater Noida : जेवर एयरपोर्ट के लिए जमीन देने वाले 6 गांवों के किसानों को नहीं मिला हक, अभी तक अटकी पड़ी प्लॉटों की रजिस्ट्री

जेवर एयरपोर्ट के लिए जमीन देने वाले 6 गांवों के किसानों को नहीं मिला हक, अभी तक अटकी पड़ी प्लॉटों की रजिस्ट्री

Google Image | Symbolic Photo

जेवर एयरपोर्ट के लिए जमीन देने वाले 6 गांवों के किसानों को नहीं मिला हक, अभी तक अटकी पड़ी प्लॉटों की रजिस्ट्री Greater Noida News : जेवर में बन रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए जमीन देने वाले 6 गांवों के किसान पचता रहे हैं। जिन किसानों ने एयरपोर्ट बनाने के लिए खुशी-खुशी अपनी जमीन और घरों को जिला प्रशासन को दे दिया। किसानों का आरोप है कि हमको जेवर बांगर में जो प्लॉट जिला प्रशासन ने अलॉट किए हैं, उन घरों की रजिस्ट्री जिला प्रशासन नहीं करा रहा हैं। रजिस्ट्री कराने के लिए किसान जिला प्रशासन के दफ्तरों के धक्के खाते फीर रहे है। 

‘फ्री ऑफ कॉस्ट’ होनी है रजिस्ट्री 
किसानों ने बताया कि जेवर तहसील के 6 गांवों की 1,334 हेक्टेयर जमीन नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण के लिए अधिग्रहण की गई थी। किसानों से वादा किया था कि उन्हें दूसरी जगह टाउनशिप डेवेलप करके बसाया जाएगा। इन किसानों को 48 हेक्टेयर जमीन पर टाउनशिप विकसित कर प्लॉट अलॉट कर दिए गए। किसान इन प्लॉट पर अपना मकान बना रहे हैं, किसानों का कहना है कि 3 हजार किसान ऐसे है जिनके प्लॉट की अभी तक जिला प्रशासन ने रजिस्ट्री नहीं करवाई है जबकि रजिस्ट्री के तय शर्तों के अनुसार ‘फ्री ऑफ कॉस्ट’ होनी है। 

सालों से लगा रहे चककर
किसानों का कहना है कि जब तक हमे मिले प्लॉट की रजिस्ट्री नहीं हो जाती तब तक हम प्लॉट के मालिक नहीं बन सकते। किसानों की मांग है कि सालों से रजिस्ट्री कराने के लिए वह चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन कोई भी जिला प्रशासन के अधिकारी उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.