रोजा जलालपुर गांव की गलियों में बजबजा रहे कीड़े, गंदगी से लोगों पांवों में पड़े जख्म

हाल-ए-ग्रेटर नोएडा : रोजा जलालपुर गांव की गलियों में बजबजा रहे कीड़े, गंदगी से लोगों पांवों में पड़े जख्म

रोजा जलालपुर गांव की गलियों में बजबजा रहे कीड़े, गंदगी से लोगों पांवों में पड़े जख्म

Tricity Today | ग्रेटर नोएडा के रोजा जलालपुर गांव का हाल

Greater Noida : ग्रेटर नोएडा अथाॅरिटी (Greater Noida Authority) अपने अधिसूचित एरिया के गांवों को माॅडल विलेज बनाने के नाम पर हर साल सैकड़ों करोड़ रुपये खर्च करती है, लेकिन मौके पर हकीकत कुछ और है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट एरिया के रोजा जलालपुर गांव समेत दर्जनों गांवों का बुरा हाल है। करोड़ों रुपये विकास योजनाओं पर खर्च होने के बावजूद गलियों में गंदा पानी भरा हुआ है। नालियां कीचड़ से अटी पड़ी हैं। कीचड़ से बदबू उड़ रही है। लोगों में महामारी फैलने का खतरा है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट एरिया में रोजा जलालपुर गांव के रहने वाले अखिल भारतीय गुर्जर महासभा के अध्यक्ष रविंद्र भाटी का कहना है, "ग्रेटर नोएडा अथाॅरिटी ने गांव में जमीन का अधिग्रहण किया। प्राधिकरण ने ग्रामीणों से वादा किया कि उनके गांव को माॅडल विलेज बनाया जाएगा। अथाॅरिटी ने गांव के विकास पर करोड़ों रूपये खर्च किए हैं, लेकिन हालात जस के तस बने हुए हैं। गंदे पानी की निकासी के लिए नाली बनाने पर करोड़ों रुपये खर्च कर डाले। गांव का गंदा पानी नालियों से बाहर निकल कर रास्तों में भरा पड़ा है। नालियां कीचड़ से भरी पड़ी हैं। सीवर ओवरफ्लो होकर रास्तों में गंदा पानी भरा हुआ है। लोग गंदे पानी से निकलने के लिए मजबूर हैं। छोटे-छोटे बच्चे स्कूल जाते वक्त गंदे पानी में फिसल कर गिर जाते हैं।"

रविंद्र भाटी ने आगे कहा, "गलियों में भरी गंदगी के कारण ग्रामीणों के पांवों में जख्म हो गए हैं। नालियों में भरे गंदे पानी से घरों में रहना मुश्किल हो रहा है। घरों में भी मुंह पर कपड़ा लपेटकर रहना पड़ता है। इसी तरह का हाल ग्रेटर नोएडा वेस्ट एरिया के शाहबेरी, हबीबपुर, तुस्याना, सुथियाना, हल्दौनी, जलपुरा और ऐमनाबाद समेत दर्जनों गांवों का है।"

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.