बिल्डर ने एक फ्लैट दो लोगों को बेचा, पुलिस के पास पहुंचे खरीदार

ग्रेटर नोएडा की पॉश सोसायटी का मामला : बिल्डर ने एक फ्लैट दो लोगों को बेचा, पुलिस के पास पहुंचे खरीदार

बिल्डर ने एक फ्लैट दो लोगों को बेचा, पुलिस के पास पहुंचे खरीदार

Tricity Today | Symbolic Photo

Greater Noida : ग्रेटर नोएडा की इंडस्ट्रियल साइट-सी में स्थित शिवालिक होम के बिल्डर पर गंभीर आरोप है। बताया गया है कि बिल्डर ने एक फ्लैट को दो लोगों को बेच डाला है। इस मामले में एक पीड़ित सुंदर सिंह ने सूरजपुर थाने में धोखाधड़ी की शिकायत की है। उन्होंने पुलिस से रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है। मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है।

क्या है पूरा मामला
सुंदर सिंह की ओर से सूजरपुर कोतवाली में दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि उसने ग्रेटर नोएडा में यूपीएसआईडीसी की साइट-सी में स्थित शिवालिक होम सोसायटी में काॅसमाॅस इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड से 28 मई सन 2018 को एक फ्लैट खरीदा था। बिल्डर को समय रहते पूरा भुगतान कर दिया और फ्लैट पर कब्जा ले लिया। बैंक से लोन लेकर बिल्डर को पूरा पैसा दे दिया। अब कुछ दिन पहले राजेश लावत नाम के व्यक्ति का फोन आया। उन्होंने बताया कि वह हिसार (हरियाणा) का रहने वाला है। उसने कहा कि यह फ्लैट नंबर 104 शिवालिक होम बिल्डर ने उन्हें बेचा है। राजेश लावत ने फ्लैट से संबंधित दस्तावेज व्हाट्सएप पर भेजे हैं। जिसका अलाॅटमेंट 21 जून 2019 का है। मतलब, बिल्डर ने सुंदर सिंह के बाद यह फ्लैट लावत को भी बेच दिया है।

पुलिस ने जांच शुरू की
सुंदर सिंह का कहना है कि यह सबकुछ देखकर उसके होश उड़े हुए हैं। इस मामले में बिल्डर शिवालिक होम सोसायटी से शिकायत की। उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया है। अब उन्होंने बिल्डर के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। पुलिस का कहना है कि मामले में जांच शुरू कर दी गई है। दूसरी तरफ बिल्डर से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन संपर्क नहीं हो सका है।

शहर की बिगड़ रही छवि
एक तरफ सरकार नोएडा और ग्रेटर नोएडा की छवि सुधारने के लिए भरसक प्रयास कर रही है, दूसरी तरफ रह-रहकर ऐसे मामले सामने आने से शहर की साख को बट्टा लगता है। शहर में सीनियर सिटीजन सोसाइटी, एवीजे हाइट्स और कई दूसरी हाउसिंग सोसायटीज में बिल्डरों ने इसी तरह एक फ्लैट कई-कई लोगों को बेच डाले हैं। इस तरह की आपराधिक गतिविधियों से रियल एस्टेट सेक्टर से आम आदमी का भरोसा टूटता है।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.