तेजा गुर्जर की सफाई, मुझे साजिश करने वाले का नहीं पता, डॉ.महेश शर्मा को इशारों में बताया जिम्मेदार

ग्रेटर नोएडा में अमित शाह : तेजा गुर्जर की सफाई, मुझे साजिश करने वाले का नहीं पता, डॉ.महेश शर्मा को इशारों में बताया जिम्मेदार

तेजा गुर्जर की सफाई, मुझे साजिश करने वाले का नहीं पता, डॉ.महेश शर्मा को इशारों में बताया जिम्मेदार

Tricity Today | तेजा गुर्जर

तेजा गुर्जर की सफाई, मुझे साजिश करने वाले का नहीं पता, डॉ.महेश शर्मा को इशारों में बताया जिम्मेदार Greater Noida : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) आज गुरुवार को ग्रेटर नोएडा आए। अमित शाह ने दादरी से भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के उम्मीदवार और मौजूदा विधायक मास्टर तेजपाल सिंह नागर (Tejpal Singh Nagar MLA) के लिए घर-घर जाकर वोट मांगा। इसी बीच तुगलपुर गांव में बड़ा विवाद पैदा हो गया है। गृहमंत्री के कार्यक्रम में गुर्जर समाज के लोगों ने गौतमबुद्ध नगर के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ.महेश शर्मा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इतना ही नहीं भाजपा किसान मोर्चा के पश्चिम उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष तेजा गुर्जर ने डॉ.महेश शर्मा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा है, "डॉ.महेश शर्मा ने हमारे बुजुर्गों का अपमान करवाया है।" कुल मिलाकर एक बार फिर दादरी क्षेत्र में विवाद पैदा हो गया है।

"अमित शहर के तुगलपुर आगमन से खुशी का माहौल"
तेजा गुर्जर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "परसों जब से माननीय गृह मंत्री अमित शाह के आने की सूचना प्राप्त हुई, तब से मुझे बहुत खुशी हुई कि गृहमंत्री जी मेरे तुगलपुर गांव में डोर टू डोर प्रचार-प्रसार करने आ रहे हैं। मुझे खुशी थी कि ऐसे गृहमंत्री मेरे गांव आ रहे हैं, जिन्होंने धारा 370 को चुटकियों में हटा दिया। मेरा गांव गुर्जर बाहुल्य है। इस नाते मेरे गांव के आसपास के लोग इकट्ठा होना शुरू हो गए। मीडिया ने भी देखा होगा कि अमित शाह के कार्यक्रम में हजारों की संख्या में लोग इकट्ठे हुए। इस दौरान लोगों में चर्चा रही कि बाबू हुकुम सिंह हमारे समाज के बड़े नेता थे। उनकी मूर्ति अखिल भारतीय गुर्जर शोध संस्था में स्थापित है और वहीं से गृह मंत्री निकलेंगे।"

"इसलिए गुर्जर समाज हुआ नाराज"
तेजा गुर्जर ने आगे कहा, "लोगों में चर्चा थी कि भाजपा नेता अमित शाह को तुगलपुर गांव में गुर्जर शोध संस्थान लेकर जाएंगे और बाबू हुकुम सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण करवाएंगे। ऐसा करने पर गुर्जर समाज के लोग पूरे उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी के लिए वोट मांगते। देश के गृहमंत्री अमित शाह ने डोर टू डोर जाने से पहले हमारे नेता हुकुम सिंह को माल्यार्पण किया, हम यह बात समाज में जाकर कहते। इससे हमारा समाज खुश हो जाता, लेकिन साजिश के तहत ऐसा नहीं करने दिया गया। जब इस बात की जानकारी समाज के लोगों को हुई तो समाज के लोगों में गुस्सा आ गया।" 

"साजिश करने वाले का अभी पता नहीं"
पत्रकारों ने सवाल पूछा कि आपने स्थानीय सांसद डॉ.महेश शर्मा के खिलाफ विरोध क्यों किया? इस पर तेजा गुर्जर ने कहा, "अमित शाह के इस कार्यक्रम को जो नेता देख रहा था, यह उसकी साजिश है। हालांकि, मुझे यह नहीं पता है कि यह साजिश किसने की है। मुझे नहीं पता कि अमित शाह के कार्यक्रम की देखरेख किसके हाथ में थी। गुर्जर सो संस्थान की अनदेखी के कारण गुर्जर समाज के लोगों में भारी रोष व्याप्त हो गया। इसकी जानकारी जब मुझे हुई तो मैंने लोगों को समझाया और कहा कि मैं बाबू हुकुम सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण करूंगा।" 

"मुझे भी प्रचार करने की जिम्मेदारी मिली"
तेजा गुर्जर ने आगे कहा, "हम तो भारतीय जनता पार्टी का प्रचार पहले से कर रहे थे और आगे भी करेंगे लेकिन अगर गृहमंत्री बाबू हुकुम सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण करते तो हम गुर्जर समाज के बीच में इस बात को लेकर जाते और वोट मांगने का काम करते। अब हम इस बात को नहीं कह सकते हैं।" तेजा गुर्जर ने आगे कहा कि, "मैं 1991 से भारतीय जनता पार्टी से जुड़ा हुआ हूं। राम मंदिर निर्माण के दौरान बहुत काम किए हैं। मैं हमेशा भारतीय जनता पार्टी के लिए प्रचार प्रसार करता हूं और इसके लिए मुझे जिम्मेदारी भी मिली है।"

"अमित शाह मेरे घर नहीं आए, मुझे कोई दिक्क्त नहीं"
उन्होंने आगे कहा, "मुझे इस बात से कोई दिक्कत नहीं है कि अमित शाह मेरे घर नहीं आए। वैसे भी मेरे घर आने का कोई कार्यक्रम नहीं था। अगर अमित शाह आ जाते तो अच्छी बात थी लेकिन अगर नहीं आए तो कोई बात नहीं है। आक्रोश इस बात का हुआ है कि क्या कार्यक्रम करवाने वाले व्यक्ति को दिखाई नहीं दे रहा कि यहां बाबा हुकुम सिंह की मूर्ति है? जनप्रतिनिधि को पता था कि यह कार्यक्रम है और हुकुम सिंह की मूर्ति पर अमित शाह द्वारा माल्यार्पण किया जाएगा। गुर्जर समाज के लोग गुर्जर शोध संस्थान के गेट पर माला लेकर खड़े हुए थे, उसके बावजूद अमित शाह को वहां पर नहीं ले जाया गया।" 

इशारों ही इशारों सांसद को बनाया निशाना
तेजा गुर्जर ने कहा, "सम्राट मिहिर भोज वाला मामला भी एक साजिश है और यह भी एक साजिश है। साजिश के तहत यह पूरा कार्यक्रम किया गया है। मिहिर भोज प्रकरण में गुर्जर समाज काफी नाराज हो गया था लेकिन हमने समाज को मनाने का काम किया है। अब बाबू हुकम सिंह वाला प्रकरण नया है, इस क्षति की समाज के लोग कैसे भरपाई करेंगे? यह समाज के लोग जानें। अभी तो भारतीय जनता पार्टी का चुनाव है। भले ही दादरी विधानसभा सीट से गुर्जर प्रत्याशी चुनाव लड़ रहा है लेकिन इसमें अमित शाह जी का कोई कसूर नहीं है।" उन्होंने साफ तौर पर इशारों ही इशारों में डॉ.महेश शर्मा पर निशाना साधते हुए कहा, "इस प्रकरण में जिसका हाथ है, जब कभी उसका चुनाव आएगा तो देखना कि यह उनकी साजिश थी या नहीं, लेकिन आज भारतीय जनता पार्टी को वोट करें।"

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.