ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अस्थाई कर्मचारी फाइलों पर नहीं करेंगे दस्तखत

ट्राईसिटी टुडे की खबर का असर : ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अस्थाई कर्मचारी फाइलों पर नहीं करेंगे दस्तखत

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अस्थाई कर्मचारी फाइलों पर नहीं करेंगे दस्तखत

Tricity Today | ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण | File Photo

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अस्थाई कर्मचारी फाइलों पर नहीं करेंगे दस्तखत Greater Noida : ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) से बड़ी खबर सामने आ रही है। अथॉरिटी में प्लेसमेंट एजेन्सी और जेम पोर्टल के तहत कार्यरत कोई भी अधिकारी या कर्मचारी किसी पत्रावली पर हस्ताक्षर नहीं करेगा। इस तरह के कर्मचारी मात्र सर्पोटिंग स्टाफ के रूप में कार्य करेंगे। किसी भी पत्रावली के नोटिंग पृष्ठ पर नियमित कार्मिकों से हस्ताक्षर कराए जाएंगे। जिसमें उन कार्मिकों का नाम और पदनाम भी पूरी तरह से अंकित होना चाहिए। यह आदेश ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी आनंद वर्धन की ओर से बुधवार को किया गया है।

आपको बता दें कि आपके पसंदीदा न्यूज़ पोर्टल 'ट्राईसिटी टुडे' ने यह मुद्दा उठाया था और इस पर समाचार प्रकाशित किए थे। एसीईओ की ओर से जारी कार्यालय आदेश में कहा गया है, "पूर्व में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के तत्कालीन मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपक अग्रवाल की ओर से एक कार्यालय आदेश 9 सिंतबर 2016 को जारी किया गया था। यह कार्यालय आदेश संख्या 2016/719 है। आदेश में साफ तौर पर लिखा गया है कि अथॉरिटी में तैनात प्लेसमेंट एजेंसी के कर्मचारी पत्रावली पर हस्ताक्षर नहीं करेंगे।

हाल ही में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के प्रॉपटी विभाग में तैनात सहायक उप महाप्रबंधक केके यादव की ओर से 21 नंबवर को प्रॉपटी विभाग में सहायकों के मध्य कार्य वितरण कर दिया गया। सहायक मनोज कुमार शर्मा और मुनेश कुमार के बीच कार्य वितरण किया गया। दोनों कर्मचारी प्लेसमेंट के जरिए रखे गए हैं। दोनों कर्मचारियों के बीच हुए विभागों में बंटवारे को भी वापस लेने का आदेश एसीईओ ने दिए हैं। एसीईओ ने सहायक उप महाप्रबंधक (संपत्ति) केके यादव के आदेश को रद्द कर दिया है। आगे से अथॉरिटी के अन्य विभागों को भी कार्यालय आदेश का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.