भाजपा से टिकट मांगने वालों की है लंबी फेहरिस्त

दादरी नगर पालिका : भाजपा से टिकट मांगने वालों की है लंबी फेहरिस्त

भाजपा से टिकट मांगने वालों की है लंबी फेहरिस्त

Tricity Today | योगराज सेन, सुनील भाटी और उर्मिला भाटी

Greater Noida : गौतमबुद्ध नगर की एकमात्र दादरी नगर पालिका को अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित कर दिया गया है। मतलब, यहां अध्यक्ष पद के लिए अन्य पिछड़ा वर्ग के दावेदार चुनाव लड़ेंगे। फिलहाल दादरी नगर पालिका पर भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janata Party) का पिछले 10 वर्षों से कब्जा है। लिहाजा, सबसे ज्यादा भागदौड़ भाजपा का टिकट हासिल करने के लिए है। आरक्षण घोषित होते ही भाजपा से टिकट पाने के लिए तमाम लोग दौड़ में शामिल हो गए हैं। हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि भाजपा के मौजूदा जिला अध्यक्ष विजय भाटी टिकट मांगने की रेस में शामिल हैं। उनके अलावा कई और चेहरे दावेदारी ठोक रहे हैं।

उर्मिला भाटी : संघ-भाजपा से पुराना नाता
भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रणीत भाटी की पत्नी उर्मिला भाटी का नाम तेजी से सामने आया है। पिछले 2 दिनों से उनके नाम को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं। आपको बता दें कि प्रणीत भाटी जन्मजात भाजपा के कार्यकर्ता हैं। उनके पिता तेजपाल सिंह पहले गाजियाबाद और फिर गौतमबुद्ध नगर के जिला अध्यक्ष रहे। इसके बाद बड़े भाई प्रवीण भाटी गौतमबुद्ध नगर के जिला अध्यक्ष रहे। उन्होंने दादरी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़ा था। यह परिवार लंबे अरसे से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी से जुड़ा है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई और उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी तक इस परिवार की पहुंच थी। बाद में महेंद्र सिंह भाटी हत्याकांड से प्रणीत भाटी का नाम जुड़ गया। उन्हें डीपी यादव के साथ सजा हुई। लंबा अरसा जेल में व्यतीत करना पड़ा। पिछले दिनों जब नैनीताल हाईकोर्ट ने महेंद्र सिंह भाटी हत्याकांड में डीपी यादव को बरी किया तो प्रणीत भाटी को भी निर्दोष करार देते हुए रिहा कर दिया। अब प्रणीत भाटी एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी की सक्रिय राजनीति में हैं।

सुनील भाटी : भाजपा के युवा और कर्मठ कार्यकर्ता
भाजपा के जिला उपाध्यक्ष सुनील भाटी भी दावेदार हैं। सुनील भाटी लंबे अरसे से भारतीय जनता पार्टी में कार्यरत हैं। वह छात्र राजनीति के बाद भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष रह चुके हैं। भाजपा के जिला महामंत्री रहे हैं। फिलहाल जिला उपाध्यक्ष हैं। बड़ी बात यह है कि भाजपा में उन्हें युवा और दमदार चेहरे के तौर पर पहचाना जाता है।

नीरज राव : पुराना स्वतंत्रता सैनानी परिवार
दादरी के नजदीक कटहेरा गांव के निवासी नीरज राव भी नगर पालिका चुनाव लड़ने के लिए दावा ठोक रहे हैं। नीरज राव भाजपा में सक्रिय हैं। वह दादरी के पुराने जमींदार परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पूर्वज राव उमराव सिंह 1857 के गदर में अंग्रेजों के खिलाफ लड़े थे। प्रतिष्ठित और संभ्रांत परिवार की पृष्ठभूमि के नीरज राव पढ़ा-लिखा चेहरा हैं।

रामनिवास विधूड़ी : नगर पालिका में काम करने का अनुभव
दादरी नगर पालिका के मौजूदा सभासद रामनिवास विधूड़ी भी भारतीय जनता पार्टी से टिकट मांग रहे हैं। रामनिवास बिधूड़ी के पक्ष में लोगों का तर्क है कि उन्हें नगर पालिका में काम करने का लंबा अनुभव है। बाकी उम्मीदवार उनके मुकाबले नगर पालिका की राजनीति और कामकाज से दूर हैं। रामनिवास बिधूड़ी भी भारतीय जनता पार्टी में सक्रिय हैं।

योगराज सैन : लंबे वक्त से हिंदू युवा वाहिनी में हैं
दादरी शहर में गुर्जर समाज के अलावा कई दूसरी बिरादरी भी अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल हैं। उनमें से भी कुछ नाम सामने आ रहे हैं। योगराज सैन भारतीय जनता पार्टी से टिकट मांगने की कतार में खड़े हैं। योगराज हिंदू युवा वाहिनी में लंबे अरसे से काम कर रहे हैं। आपको बता दें कि हिंदू युवा वाहिनी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा स्थापित संगठन है। वह वर्ष 2009 से हिंदू युवा वाहिनी में हैं और फिलहाल जिला संयोजक के पद पर कार्यरत हैं। इस हिंदूवादी संगठन से ताल्लुक रखने के चलते योगराज भारतीय जनता पार्टी की राजनीति में भी सक्रिय हैं।

रामकुमार वर्मा : व्यापारी संगठनों से जुड़ाव
दादरी के स्वर्णकार समाज से रामकुमार वर्मा भारतीय जनता पार्टी से उम्मीदवारी मांग रहे हैं। रामकुमार वर्मा दादरी नगर में व्यापारी संगठनों से जुड़े हुए हैं। रामकुमार मूल रूप से सादोपुर गांव के रहने वाले हैं। फिलहाल लंबे अरसे से दादरी कस्बे में रह रहे हैं।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.