अथॉरिटी में सक्रिय टुकड़े-टुकड़े गैंग, दलालों से कंधा मिलाकर चले थे अफसर

Greater Noida : अथॉरिटी में सक्रिय टुकड़े-टुकड़े गैंग, दलालों से कंधा मिलाकर चले थे अफसर

अथॉरिटी में सक्रिय टुकड़े-टुकड़े गैंग, दलालों से कंधा मिलाकर चले थे अफसर

Tricity Today | Greater Noida Authority

अथॉरिटी में सक्रिय टुकड़े-टुकड़े गैंग, दलालों से कंधा मिलाकर चले थे अफसर Greater Noida : ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के प्लानिंग विभाग में टुकड़े-टुकड़े गैंग खेला खेल रहा है। इस गैंग में वह कर्मचारी भी शामिल है, जो फर्जी तरीके से नियुक्ति पाकर मानव संसाधन विभाग में तैनात है। सूत्रों से पता चला है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट के पतवाड़ी गांव में रतन सिंह और राजवीर को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के लैंड विभाग से 2500 वर्ग मीटर का प्लॉट अलॉट हुआ था। पता चला है कि पहले इस प्लॉट के तीन टुकड़े कर लिए थे। इसके बाद इन लोगों ने दलालों के माध्यम से मानव संसाधन विभाग में फर्जी तरीके से नियुक्ति पाए कर्मचारी ने प्लानिंग विभाग में अप्लीकेशन लगवाई है कि इस प्लॉट के 16 टुकड़े कर दिए जाए, लेकिन मामले का खुलासा होने पर प्लानिंग विभाग के सीनियर मैनेजर सुधीर कुमार की ओर से इंकार कर दिया गया है। 

इन गांवों में सबसे ज्यादा गैंग सक्रिय
बताया जाता है कि इसी तरह ग्रेटर नोएडा वेस्ट और ईस्ट एरिया के सैनी, खैरपुर, पतवाड़ी, हैबतपुर, इटेडा, डाढा, डाबरा, लुक्सर और सिरसा समेत कई गांवों में 6 प्रतिशत आबादी के प्लॉट के टुकड़े कराने के लिए गैंग सक्रिय है। प्लानिंग विभाग में यह गैंग अपने आपको एसीईओ से लेकर जीएम प्लानिंग तक अपने मधुर संबंध बताने से पीछे नहीं हटते। 

अथॉरिटी में गैंग का बोलबाला
टुकड़े-टुकड़े गैंग का गिरोह ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी में सुबह 10 बजे दाखिल हो जाता है। इसके बाद देर शाम तक एसीईओ से लेकर लैंड विभाग और प्लानिंग विभाग और 6 प्रतिशत आबादी विभाग में सक्रिय रहकर प्लॉट के टुकड़े कराने में लगा रहता है। प्लॉट के टुकड़े गैंग लगाने के रेट भी अलग-अलग है। 500 वर्ग मीटर प्लॉट के तीन टुकड़े कराने पर अलग रेट है। 2500 वर्ग मीटर प्लॉट के 16, 17 और 20 टुकड़े कराने के अलग रेट है। 

सीएम तक पहुंची शिकायत
प्लॉट छोटे टुकड़े हो जाने के बाद बाजार में रेट कई गुना बढ जाते है। छोटा प्लॉट आसानी से बिक जाता है। टुकड़े-टुकड़े गैंग की शिकायत एक बीजेपी के नेता ने शासन में कर दी तो उसी के खिलाफ टुकड़े-टुकड़े गैंग ने सीएम पोर्टल पर किसी बैनाम व्यक्ति से शिकायत करा डाली। हालांकि, बीजेपी नेता ने गैंग के शिकायत करने वाले सदस्य की पहचान कर ली है। सीईओ के पास शिकायत दर्ज कराने की तैयारी की जा रही है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.