विक्ट्री वन सोसायटी में पहुंचे यूपी रेरा के अफसर, निवासियों ने कहा- अथॉरिटी की बदौलत हो रहा शोषण

Greater Noida West : विक्ट्री वन सोसायटी में पहुंचे यूपी रेरा के अफसर, निवासियों ने कहा- अथॉरिटी की बदौलत हो रहा शोषण

विक्ट्री वन सोसायटी में पहुंचे यूपी रेरा के अफसर, निवासियों ने कहा- अथॉरिटी की बदौलत हो रहा शोषण

Tricity Today | विक्ट्री वन सोसायटी में पहुंचे यूपी रेरा के अफसर

विक्ट्री वन सोसायटी में पहुंचे यूपी रेरा के अफसर, निवासियों ने कहा- अथॉरिटी की बदौलत हो रहा शोषण Greater Noida News : ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित विक्ट्री वन सेंट्रल हाउसिंग सोसायटी (Victory One Central) में यूपी रेरा के अधिकारियों ने दौरा किया है। दरसअल, सोसाइटी के निवासियों ने बिल्डर और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ यूपी रेरा (UP RERA) में मामला दर्ज करवाया है। निवासियों का कहना है कि सोसाइटी में मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं। फिर भी ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने विक्ट्री वन सेंट्रल सोसाइटी के बिल्डर को ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट दे दिया है। सोसाइटी के निवासियों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

अथॉरिटी ने गलत तरीके से जारी की ओसी
सोसायटी के निवासी आशीष ने बताया कि सोसाइटी की हालत बद से बदतर हो गई है। कार पार्किंग के स्थान पर झाड़ियां खड़ी हैं। बेसमेंट में पानी भरा रहता है। लिफ्ट ठीक तरीके से काम नहीं करती हैं। अधिकतर फ्लैटों में लीकेज की समस्या होती है। इन सब समस्याओं के बावजूद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने बिल्डर को करीब 4 साल पहले ओसी जारी कर दिया है। 

बिना ओसी वाले फ्लैट्स निवासियों से भी मेंटेनेंस चार्ज की मांग
उन्होंने बताया कि जिस टावर में वह रहते हैं, उस टावर के लिए बिल्डर को ओसी नहीं मिली है। उसके बावजूद बिल्डर उनसे मेंटेनेंस चार्ज मांग रहा है। उनका कहना है कि यह किसी एक की नहीं बल्कि सभी निवासियों की समस्या है। टावर में लिफ्ट ठीक से नहीं चलती है। लोगों को पार्किंग की सुविधा नहीं मिल पाई। सोसाइटी में क्लब नहीं है। फिर भी बिल्डर 1.95 रुपए प्रति स्क्वायर फुट के हिसाब से मेंटेनेंस चार्ज मांग रहा है। उनका कहना है कि जब सोसाइटी में मूलभूत सुविधा नहीं हैं तो मेंटेनेंस शुल्क किस काम का लिया जा रहा है।

प्राधिकरण के खिलाफ कार्रवाई की मांग
उन्होंने बताया कि मंगलवार को सोसाइटी में यूपी रेरा के अफसर आए। लोगों ने सोसाइटी की तमाम समस्याओं के बारे में उनको अवगत करवाया है। इस दौरान सोसाइटी के निवासियों ने कहा कि बिल्डर को दी गई ओसी पर कार्रवाई करें। क्योंकि ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने गलत तरीके से बिल्डर को ओसी दी है।

यूपी रेरा के अफसरों ने रखी समझौते की बात 
इस दौरान यूपी रेरा के अफसरों ने कहा कि वह सोसायटी के निवासियों और बिल्डर के बीच में एक समझौता करवाएंगे। जिसमें यह लिखित तौर पर होगा कि कितने समय में क्या सुविधा पूरी हो जाएगी। इस पर सोसाइटी के निवासियों ने कहा कि वह बिल्डर के साथ समझौता करने के लिए तैयार हैं, लेकिन उसके बावजूद भी अगर मूलभूत सुविधाएं पूरी नहीं हुई तो फिर बिल्डर की ओसी कैंसिल होगी। बिल्डर को पेनल्टी देनी होगी, लेकिन इस पर यूपी रेरा के अफसरों ने कोई जवाब नहीं दिया।

प्राधिकरण पर मिलीभगत का आरोप
सोसाइटी के निवासियों का आरोप है कि लोगों को परेशान करने में मुख्य रूप से प्राधिकरण का हाथ है। प्राधिकरण के साथ मिलीभगत करके पहले बिल्डर गलत तरीके से ओसी प्राप्त कर लेता है और फिर निवासियों का शोषण करता है।

बिल्डर ने करवाया मुकदमा दर्ज
सोसाइटी के निवासी प्रशांत चौहान ने बताया कि उन्होंने जब अपनी समस्याओं को लेकर शिकायत की तो बिल्डर ने उनके खिलाफ पंजाब में केस दर्ज करवाया। जिसके बाद से भी बिल्डर लगातार उनको परेशान कर रहा है, पंजाब पुलिस उनकी सोसाइटी में आकर उनको परेशान कर रही है। बिल्डर ने उनका खिलाफ इसलिए शिकायत दर्ज करवाई कि उन्होंने विक्ट्री वन सोसाइटी के नाम से शिकायत दर्ज की है। इसमें सोसाइटी का नाम बदमान हो रहा है। बिल्डर उनपर दवाब बना रहा है कि वह अपना केस वापस लें। 

कमिश्नर आलोक सिंह ने दिया मदद का आश्वासन
उन्होंने बताया कि इस मामले में उन्होंने गौतमबुद्ध नगर पुलिस से शिकायत की। पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह और लव कुमार से उन्होंने मुलाकात की। पुलिस ने उनको पूरा समर्थन करने का आश्वासन दिया है। पुलिस ने उनको मदद मिल रही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.