खुशखबरी : पैरा ओलंपियन वरुण भाटी को योगी आदित्यनाथ देंगे लक्ष्मण पुरुस्कार, धीरेन्द्र सिंह तीन साल से कर रहे थे पैरवी

पैरा ओलंपियन वरुण भाटी को योगी आदित्यनाथ देंगे लक्ष्मण पुरुस्कार, धीरेन्द्र सिंह तीन साल से कर रहे थे पैरवी

Tricity Today | वरुण सिंह भाटी और धीरेन्द्र सिंह

उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गौतमबुद्ध नगर आने वाले हैं। इस मौके पर रियो पैरा ओलंपिक 2016 में कांस्य पदक विजेता और अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित वरुण सिंह भाटी को योगी आदित्यनाथ लक्ष्मण पुरस्कार से सम्मानित करेंगे। इसके लिए जेवर से विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह पिछले 3 वर्षों से पैरवी कर रहे थे। दरअसल, उत्तर प्रदेश में पैरा खिलाड़ियों को सुविधाएं देने की कोई नीति नहीं थी। विधायक की सिफारिश पर राज्य सरकार ने नई नीति लागू की। लेकिन इस नीति का लाभ वर्ष 2020 से आगे देने का प्रावधान रखा गया। जिसकी वजह से वरुण भाटी लाभान्वित नहीं हो सके। इसके बाद विधायक ने एक बार फिर मुख्यमंत्री युवा और खेल मंत्री से संपर्क किया। अब धीरेंद्र सिंह की सिफारिश पर राज्य सरकार ने वरुण भाटी को लक्ष्मण अवॉर्ड देने का फैसला लिया है। राज्य के खेल निदेशक आरपी सिंह ने शुक्रवार को यह जानकारी विधायक को दी है।

उत्तर प्रदेश में दिव्यांगजन खिलाड़ियों को पुरस्कृत किए जाने की कोई योजना नहीं थी, लेकिन जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के लगातार 3 वर्षों के प्रयासों से दिव्यांगजन खिलाड़ियों को लाभ पहुंचाने के मकसद से उत्तर प्रदेश में पॉलिसी बनाई गई थी। धीरेंद्र सिंह ने बताया कि 24 जनवरी 2021 को "उत्तर प्रदेश दिवस" के मौके पर जेवर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम जमालपुर निवासी और रियो पैरा ओलंपिक 2016 के कांस्य पदक विजेता वरुण सिंह भाटी को मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ लक्ष्मण पुरस्कार से सम्मानित करेंगे। धीरेंद्र सिंह ने बताया कि इस संबंध में आज दूरभाष पर राज्य के खेल निदेशक आरपी सिंह ने जानकारी दी है। उन्होंने अवगत कराया कि वरुण सिंह भाटी को 3 लाख 11 हजार रुपये के साथ लक्ष्मण पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

इस मौके पर जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कहा कि "जेवर विधानसभा क्षेत्र और उत्तर प्रदेश के नौजवानों के प्रदेश सरकार कई योजनाएं संचालित कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि उत्तर प्रदेश का नौजवान देश और दुनिया में नाम रोशन करें।" धीरेंद्र सिंह ने आगे कहा, "वरुण सिंह भाटी मेरे विधानसभा क्षेत्र की शान हैं। मैं उनकी उपलब्धियों से शुरू से प्रभावित रहा हूं। मैंने उनको हर संभव प्रोत्साहन देने और मदद का वादा किया था, लेकिन दुर्भाग्यवश राज्य में हमारी सरकार आने से पहले दिव्यांग खिलाड़ियों को मदद देने का कोई प्रावधान नहीं था। यह बेहद दुखद स्थिति थी।"

धीरेंद्र सिंह ने कहा, "इस वजह से राज्य सरकार वरुण भाटी की कोई मदद नहीं कर पाई। मैंने करीब 3 साल पहले मुख्यमंत्री से मुलाकात की और इस बारे में अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने पूरे प्रकरण को सकारात्मकता के साथ लिया और तत्काल इस दिशा में काम करने का निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिया। अंततः राज्य में यह पॉलिसी बनाई गई, किंतु नए नियमों के तहत लाभ भविष्य में दिया जाना है। इसके चलते वरुण भाटी पॉलिसी में आच्छादित नहीं हो पाए। यह हम लोगों के लिए बड़ी प्रतिकूल स्थिति थी। इसके बाद दोबारा नए सिरे से भागदौड़ शुरू हुई। अंततः राज्य सरकार ने वरुण भाटी को लक्ष्मण अवार्ड देने का फैसला लिया है। लक्ष्मण अवार्ड उत्तर प्रदेश सरकार का खिलाड़ियों को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है। यह प्रत्येक वर्ष यूपी दिवस के अवसर पर दिया जाता है।"

दूसरी ओर राज्य सरकार की ओर से सम्मान मिलने की जानकारी पर वरुण भाटी ने खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा, "रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद से लगातार धीरेंद्र सिंह संपर्क में बने रहे हैं। मैंने जितनी मेहनत अपना खेल निखारने में की है, धीरेंद्र सिंह ने उतनी ही मेहनत मुझे सम्मान दिलाने के लिए की है। मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं। साथ ही वादा करता हूं कि आने वाली स्पर्धाओं में देश और जिले का नाम रोशन करुंगा। मेरा लक्ष्य अगले ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक हासिल करना है।" आपको बता दें कि वरुण सिंह भाटी गौतमबुद्ध नगर के जमालपुर गांव के निवासी हैं। जमालपुर गांव जेवर विधानसभा क्षेत्र में है।

पैरालंपिक खिलाड़ी वरूण भाटी की उपलब्धियां

-वर्ष 2016 में रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीता।
-वर्ष 2014 चीन ओपन ए‌थलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता।
-वर्ष 2017 वर्ल्ड पैरा ए‌‌थलेटिक्स चैंपियनशिप लंदन में कांस्य पदक हासिल किया।
-वर्ष 2018 एशियन पैरा गेम्स इंडोनेशिया में रजत पर कब्जा कर चुके हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.