Gurjar leader

More Stories

BREAKING: ना कांग्रेस ना भाजपा, नई पार्टी बनाएंगे सचिन पायलट
BREAKING: ना कांग्रेस ना भाजपा, नई पार्टी बनाएंगे सचिन पायलट
सचिन पायलट की बात अगर कांग्रेस से नहीं बनी तो वह राजस्थान में अपनी अलग पार्टी का गठन करेंगे। दरअसल, तमाम कोशिशों के बावजूद राजस्थान....
सचिन पायलट पर गौतमबुद्ध नगर के लोगों की नजर, जोगेंद्र अवाना किस तरफ?
सचिन पायलट पर गौतमबुद्ध नगर के लोगों की नजर, जोगेंद्र अवाना किस तरफ?
राजस्थान में कांग्रेस सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्य के डिप्टी चीफ मिनिस्टर सचिन पायलट...
रानी नागर के पक्ष में खड़े हुए किसान, भाजपा नेताओं को दी चेतावनी
रानी नागर के पक्ष में खड़े हुए किसान, भाजपा नेताओं को दी चेतावनी
अखिल भारतीय किसान सभा गौतम बुद्ध नगर की कार्यकारणी की बैठक बुधवार को वीडियो कांनफ्रेंस के माध्यम से हुई। बैठक में रानी नागर...
नरेंद्र सिंह भाटी ने गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ को 25 लाख रुपये दिए
नरेंद्र सिंह भाटी ने गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ को 25 लाख रुपये दिए
समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य नरेंद्र सिंह भाटी ने अपनी विकास निधि से 25 लाख रुपए गौतम बुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिए हैं। नरेंद्र सिंह भाटी ने मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिखकर यह धनराशि सीएमओ के खाते में भेजने...
EXCLUSIVE: दो गांवों ने दिया चुनावी नारा, ‘विकास नहीं तो वोट नहीं‘
EXCLUSIVE: दो गांवों ने दिया चुनावी नारा, ‘विकास नहीं तो वोट नहीं‘
उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजते ही गहमागहमी बढ़ गई है। नेता टिकट की दौड़ लगा रहे हैं। वोटरों को अभी से जाति, धर्म और क्षेत्र के नाम पर बांट रहे हैं। लेकिन ग्रेटर नोएडा के गांव भनोता और खेड़ी के युवाओं ने अपना चुनावी नारा दिया है ‘विकास नहीं तो वोट नहीं‘। गांव के युवा सोशल साइट्स पर समर्थन जुटा रहे हैं। युवकों का कहना है कि गांव में कई वर्षों से कोई विकास कार्य नहीं हुआ हैं।
नरेंद्र सिंह भाटी ने गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ को 25 लाख रुपये दिए
नरेंद्र सिंह भाटी ने गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ को 25 लाख रुपये दिए
समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य नरेंद्र सिंह भाटी ने अपनी विकास निधि से 25 लाख रुपए गौतम बुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिए हैं। नरेंद्र सिंह भाटी ने मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिखकर यह धनराशि सीएमओ के खाते में भेजने...
EXCLUSIVE: दो गांवों ने दिया चुनावी नारा, ‘विकास नहीं तो वोट नहीं‘
EXCLUSIVE: दो गांवों ने दिया चुनावी नारा, ‘विकास नहीं तो वोट नहीं‘
उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजते ही गहमागहमी बढ़ गई है। नेता टिकट की दौड़ लगा रहे हैं। वोटरों को अभी से जाति, धर्म और क्षेत्र के नाम पर बांट रहे हैं। लेकिन ग्रेटर नोएडा के गांव भनोता और खेड़ी के युवाओं ने अपना चुनावी नारा दिया है ‘विकास नहीं तो वोट नहीं‘। गांव के युवा सोशल साइट्स पर समर्थन जुटा रहे हैं। युवकों का कहना है कि गांव में कई वर्षों से कोई विकास कार्य नहीं हुआ हैं।
भाजपा की परिवर्तन यात्रा का विरोध कर रहे गुर्जर नेता को पुलिस ने किया नजरबंद
भाजपा की परिवर्तन यात्रा का विरोध कर रहे गुर्जर नेता को पुलिस ने किया नजरबंद
ग्रेटर नोएडा में गुर्जर बिरादरी के लोग भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन यात्रा का विरोध कर रहे हैं। मंगलवार को कपिल गुर्जर के नेतृत्व में सुथियाना गांव में युवकों के जत्थे ने प्रदर्शन किया था। बुधवार को दनकौर क्षेत्र में ओमकार भाटी ने विरोध का ऐलान किया गया था। लेकिन बुधवार को दिन निकलने से पहले पुलिस ओमकार भाटी के घर पहुंच गई। उसे घर से बाहर नहीं निकलने दिया गया। ओमकार को उसके घर में ही नजरबंद कर दिया गया। जब मामला सोशल मीडिया पर आया तो दोपहर में पुलिस ओमकार के घर से हटाई गई।
गुर्जर नेताओं ने संभाली ठाकुर धीरेंद्र सिंह के चुनाव की कमान
गुर्जर नेताओं ने संभाली ठाकुर धीरेंद्र सिंह के चुनाव की कमान
भारतीय जनता पार्टी के जेवर सीट से उम्मीदवार ठाकुर धीरेंद्र सिंह को गुर्जर बाहुल्य गांवों में अच्छा समर्थन मिल रहा है। सोमवार को धीरेंद्र सिंह ने दनकौर क्षेत्र के गांवों में प्रचार और सभाएं कीं। गुर्जर नेताओं ने धीरेंद्र सिंह के चुनाव प्रचार की कमान संभाल ली है। दादूपुर, बुलन्दखेड़ा, दलेलगढ़, इशेपुर, खेरली हाफिजपुर, जमालपुर, देवटा, शाहपुर, चंडावली, फजायलपुर, चीरसी, घंघौला, लडपुरा और कुलीपुरा गांवों का दौरा किया।
पढ़िए, पीएम और सीएम को चनौती देने वाले इन दो दिग्गज गुर्जर नेताओं की कहानी
पढ़िए, पीएम और सीएम को चनौती देने वाले इन दो दिग्गज गुर्जर नेताओं की कहानी
दादरी को गुर्जरों की राजधानी कहा जाता है। ठेठ देहाती से आज महानगीय बन चुके इस विधानसभा क्षेत्र ने उत्तर प्रदेश और भारतीय राजनीति को दो ऐसे गुर्जर नेता दिए हैं, जिनकी ठसक और हनक किस्से सुनकर हैरत होती है। रामचंद्र विकल और महेंद्र सिंह भाटी अपने समय में बड़े राजनीतिक नाम बन गए थे। आवाम की ताकत के बूते ये नेता प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जैसी ताकतों को चुनौती देते रहे। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को चुनौती देने के लिए इंदिरा गांधी ने रामचंद्र विकल को बागपत भेजा था। दूसरे नेता महेंद्र सिंह भाटी वेस्ट यूपी में जनता दल की राजनीति के प्रतीक माने जाते थे।

Most Viewed

नोएडा
नोएडा: ड्राइंगरूम में बैठा था परिवार, छत भरभराकर गिरी, शहर की पॉश हाउसिंग सोसायटी में हादसा
नोएडा: ड्राइंगरूम में बैठा था परिवार, छत भरभराकर गिरी, शहर की पॉश हाउसिंग सोसायटी में हादसा
ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा को केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, देश के चुनिंदा 11 शहरों में शुमार होगा, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा को केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, देश के चुनिंदा 11 शहरों में शुमार होगा, पढ़िए पूरी खबर
यमुना सिटी
बड़ी खबर: जेवर एयरपोर्ट की जमीन से गुजरने वाली 4 नहरों की शिफ्टिंग शुरू, पढ़िए पूरी खबर
बड़ी खबर: जेवर एयरपोर्ट की जमीन से गुजरने वाली 4 नहरों की शिफ्टिंग शुरू, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा वेस्ट
Greater Noida West BIG BREAKING: सोसाइटी में घुसकर प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों से भूना, मौके पर ही मौत, साथी गंभीर रूप से घायल
Greater Noida West BIG BREAKING: सोसाइटी में घुसकर प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों से भूना, मौके पर ही मौत, साथी गंभीर रूप से घायल
ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा: शेर सिंह भाटी हत्याकांड ने तूल पकड़ा, शुक्रवार को दादरी में महापंचायत, भाजपा नेता ने कहा- अख़लाक़ के लिए रोने वालों ये हमारा भाई है
ग्रेटर नोएडा: शेर सिंह भाटी हत्याकांड ने तूल पकड़ा, शुक्रवार को दादरी में महापंचायत, भाजपा नेता ने कहा- अख़लाक़ के लिए रोने वालों ये हमारा भाई है