एक दिन में डेंगू के 22 नए मरीज आए सामने, प्लेटलेट कम होने पर खुद से न लें दवाई

लखनऊ : एक दिन में डेंगू के 22 नए मरीज आए सामने, प्लेटलेट कम होने पर खुद से न लें दवाई

एक दिन में डेंगू के 22 नए मरीज आए सामने, प्लेटलेट कम होने पर खुद से न लें दवाई

Google Image | डेंगू के एक दिन में 22 और नए मामले सामने आए

एक दिन में डेंगू के 22 नए मरीज आए सामने, प्लेटलेट कम होने पर खुद से न लें दवाई लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी में कोरोना का संकट कम होते ही डेंगू का कहर बढ़ने लगा है। यही वजह है कि डेंगू के मामलों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इस बार शहर के पॉश इलाके को ड़ेंगू अपना निशाना बनाया है। तुरियागंज, अलीगंज, इंदिरा नगर, आलमबाग, सरोजनी नगर और कैसरबाग में डेंगू के एक दिन में 22 और नए मामले सामने आए हैं। जिसमे 6 की हालत गम्भीर बताई जा रही है।जिनका इलाज सिविल बलरामपुर और लोकबंधु अस्पतालों में चल रहा है, जबकि अन्य की हालत स्थिर है और वे घर पर ही स्वस्थ हैं।

यह लक्षण दिखे तो करवाएं जांच
बलरामपुर अस्पताल के इमरजेंसी मेडिकल अफसर डॉ सौरभ सिंह ने बताया कि हमारे यहां सबसे ज्यादा बुखार से ग्रसित मरीज ज्यादा आ रहे हैं। टाइफाइड, मलेरिया और डेंगू के मरीज भी सामने आ रहे हैं लेकिन डेंगू के मरीज सबसे ज्यादा आ रहे हैं। अगर ट्रीटमेंट सही समय से मिल जाये तो इसमें मरने के चान्सेस एक परसेंट से भी कम होते हैं। अगर शरीर मे खुजली हो रही है, दान निकल रहे हों, मसूड़ों से ब्लड आ रहा हो या फिर काले रंग का दस्त हो रहा हो तो तत्काल जांच कराएं। प्लेटलेट कम होने पर खुद से कोई भी दवाई नहीं लेनी है, डेंगू का मच्छर हमेशा दिन में काटता है।

मौसम बदलने से हो रही दिक्कत
जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग को संचारी रोगों के हॉटस्पॉट क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए थे। नगर निगम इन क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाकर नाले, नालियों की साफ सफाई और एन्टी लार्वा का छिड़काव करेगा साथ ही फागिंग भी करेगा। बता दें कि जनवरी से अब तक यह संख्या 518 हो गई है।  इनमें से 108 में अक्टूबर के पहले नौ दिनों में औसतन 12 मामलों का निदान किया गया है। माना जा रहा कि मौसम के बार-बार करवट लेने की वजह से वायरल और डेंगू की चपेट में लोग आ रहे हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.