गम्भीर श्रेणी में पहुंची लखनऊ की वायु गुणवत्ता, जाने कैसे बढ़ता है वायु प्रदूषण

Lucknow : गम्भीर श्रेणी में पहुंची लखनऊ की वायु गुणवत्ता, जाने कैसे बढ़ता है वायु प्रदूषण

गम्भीर श्रेणी में पहुंची लखनऊ की वायु गुणवत्ता, जाने कैसे बढ़ता है वायु प्रदूषण

Google Image | वायु प्रदूषण

गम्भीर श्रेणी में पहुंची लखनऊ की वायु गुणवत्ता, जाने कैसे बढ़ता है वायु प्रदूषण लखनऊ : दीपावली के बाद शहर की उखड़ी सड़कों से उठे धूल और पटाखों से राजधानी की हवा दूषित हो गई है। जिससे वायु प्रदूषण अपने सामान्य स्तर से करीब चार गुना तक बढ़ गया। गुरुवार को लखनऊ की वायु गुणवत्ता 340 पहुँच गयी है। वहीं राजधानी के तालकटोरा इलाके की हवा सबसे खतरनाक हो गई है। यहाँ AQI 400 के ऊपर रिकॉर्ड हुई है। इसके साथ ही अलीगंज में AQI 343, लालबाग में वायु गुणवत्ता 328 दर्ज हुई है। जिसे कम करने के लिए नगर निगम लगातार प्रयास कर रहा है। बावजूद इसके वायु गुणवत्ता कम होने का नाम नही ले रही है। 

ऐसे बढ़ता है वायु प्रदूषण
बता दें कि शहर में वाहनों के आवागमन तथा हवा चलने पर सड़क पर जमा धूल और मिट्टी के कण वातावरण में छा जाते हैं। इसके अतिरिक्त नगरीय क्षेत्रों में कूड़ा जलाने से भी वायु प्रदूषण बढऩे की संभावना रहती है। निर्माण सामग्री के अवशेष से भी वायु प्रदूषण होता है। हाट स्पाट को चिह्नित कर निर्माण, बिल्डिंग मैटेरियल, रोड डस्ट, इंडस्ट्रियल क्षेत्र में प्रदूषण, ट्रैफिक जाम एवं कूड़ा जलाने से उत्पन्न वायु प्रदूषण को विभिन्न विभागों के सहयोग से नियंत्रित करने के लिए नगर निगम ने कार्य कर रहा है।

वायु प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई
नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी ने बताया कि वायु प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश सभी जोनल अधिकारियों और अभियंताओं को दिए हैं। अधिकारियों की टीम के साथ नगर आयुक्त ने शहर के विभिन्न इलाकों का दौरा भी किया। निर्माण कराने वाली कार्यदायी संस्थाओं पर भी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं, जो वायु प्रदूषण फैला रही हैं। उनके खिलाफ जुर्माना भी लगाया जा रहा है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.