बसपा के कई दिग्गज नेता सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले- जनता को योगी नहीं योग्य सरकार चाहिए

लखनऊ : बसपा के कई दिग्गज नेता सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले- जनता को योगी नहीं योग्य सरकार चाहिए

बसपा के कई दिग्गज नेता सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले- जनता को योगी नहीं योग्य सरकार चाहिए

Tricity Today | बसपा के कई दिग्गज नेता सपा में हुए शामिल

बसपा के कई दिग्गज नेता सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले- जनता को योगी नहीं योग्य सरकार चाहिए लखनऊ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव लगातार 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी को मजबूत कर रहे हैं इसी कड़ी में रविवार को बसपा के कई बड़े नेता सपा में शामिल हो गए हैं। पूर्व विधायक व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आर एस कुशवाहा, पूर्व सांसद कादिर राणा ने हजारों कार्यकर्ताओं के साथ सपा का दामन थामा है। इसके साथ ही राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रदेश अध्यक्ष इं हरि किशोर तिवारी भी सपा में शामिल हो गए। इस दौरान अखिलेश ने कहा जनता इंतज़ार में बैठी है कि कब बीजेपी को वोटों से कुटाई करने का मौक़ा मिलेगा।

प्रदेश को योगी नही योग्य सरकार चाहिए
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि यूपी के विकास के लिए भाजपा को हटाना जरूरी हो गया है। प्रदेश को योगी नहीं योग्य सरकार चाहिए। इस मौके पर अखिलेश यादव ने वादा किया है कि सपा की सरकार बनने पर कर्मचारियों की हर समस्या का समाधान किया जाएगा। कर्मचारियों की सेहत एवं सुरक्षा को लेकर गई फैसले लिए जाएंगे। अखिलेश ने आगे कहा बीजेपी ने हर वर्ग के लोगों को धोका दिया है, विज्ञापन में तो सब अच्छा लगता है, लेकिन हकीकत ऐसी नही है। और अगर यहां सवाल उठाएंगे तो आपको कुचल दिया जाएगा।

भारत झेल रहा कुपोषण
सपा अध्यक्ष ने कहा कि देश में खाद से लेकर तेल तक के दाम बढ़ गए हैं जिसकी मार हर वर्ग पर पड़ रही है। भारत कुपोषण झेल रहा है। जो आंकड़े आए हैं वो बहुत परेशान करने वाले हैं भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के पीछे हो गया। बीजेपी के लोग गलत रास्ते पर चल रहे। आखिर इसके लिए कौन जिम्मेदार है? उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार के दौरान राहत पैकेट में घी, दूध और बच्चों के लिए फल तक का इंतजाम किया गया था लेकिन भाजपा सरकार ने इसे बंद कर दिया। यूपी सरकार ने 1 ट्रिलियन इकॉनमी की बात करी थी, लेकिन आज महंगाई का हाल ये है की सुबह की चाय से शाम के खाने तक का मुश्किल है।

200 पार हुआ सरसों का तेल
ये सरकार किसान का सबसे ज्यादा अपमान करती है और आजतक किसानों को उनकी गन्ना फसल का बकाया भी नही दे रहे। रसोई गैस के दाम बढ़े हैं, सरसों तेल के रेट बढ़ें हैं, सरकार जवाब दे, सरसों का तेल 200 पार हो गया है। सरकार कहती है कि हम मिलावट नहीं कर पा रहे हैं इसलिए रेट महँगे हो रहे हैं। लेकिन यहाँ बड़े-बड़े उद्योगपतियों को राहत दे रही है। आने वाले दिनों में मिलावटी सरसों का तेल मिलेगा। इस सरकार का काम है नाम बदलना,नेम प्लेट बदलना, गाड़ी पलटाना, स्टूल पर बिठाना, गड्ढों की जगह जेब भरना और गंगा जल छिड़कना।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.