3 दिनों तक छोटी बहन को मां की लाश के साथ सुलाया, पिता को वीडियो कॉलिंग पर दिखाई डेडबॉडी

लखनऊ में पब्जी गेम के लिए मां की हत्या : 3 दिनों तक छोटी बहन को मां की लाश के साथ सुलाया, पिता को वीडियो कॉलिंग पर दिखाई डेडबॉडी

3 दिनों तक छोटी बहन को मां की लाश के साथ सुलाया, पिता को वीडियो कॉलिंग पर दिखाई डेडबॉडी

Google Image | साधना

3 दिनों तक छोटी बहन को मां की लाश के साथ सुलाया, पिता को वीडियो कॉलिंग पर दिखाई डेडबॉडी Lucknow : उत्तर प्रदेश के लखनऊ में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जहां एक 16 साल के बेटे ने अपनी मां की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद 3 दिनों तक मां की लाश को घर में ही रखा था। इतना ही नहीं 16 साल के बेटे ने अपनी 10 साल की छोटी बहन को जबरदस्ती अपनी मां के शव के साथ सुलाया। 3 दिनों बाद जब महिला की लाश सड़ने लगी तो आरोपी ने वीडियो कॉल करके इस घटना के बारे में पिता को जानकारी दी। पुलिस ने घर में पहुंचकर महिला की लाश को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस को आशंका है कि आरोपी बेटे ने अपनी मां को 6 गोलियां मारी है। यह पूरी वारदात पब्जी गेम को लेकर हुई है। मां ने अपने बेटे को पब्जी गेम खेलने के लिए मना किया था, जिसकी वजह से 16 साल के बेटे ने इस वारदात को अंजाम दिया है।

पिता सेना में तैनात हैं
लखनऊ पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रहने वाले नवीन कुमार सिंह सेना में तैनात हैं। नवीन कुमार सिंह की इस समय पोस्टिंग पश्चिम बंगाल में। नवीन कुमार की 40 वर्षीय पत्नी साधना, उनका 16 साल का बेटा और 10 साल की बेटी लखनऊ के यमुनापुरम कॉलोनी में रहते हैं। पुलिस को जांच के दौरान पता चला है कि बीते शनिवार को साधना ने अपने 16 साल के बेटे को पब्जी गेम खेलने के लिए मना किया था। मां की इस बात से नाराज होकर बेटे ने अपनी मां को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। बेटे ने जिस पिस्टल से अपनी मां की हत्या की थी, वह उसके पिता की थी।

3 रात तक मां की लाश के साथ सोई बेटी
वारदात के बाद 3 दिनों तक अपनी बहन के साथ उसी घर में रात गुजारी। जहां पर उसकी मां की लाश पड़ी हुई थी। हत्या के दूसरे दिन रविवार को आरोपी अपनी बहन को अपनी मां की लाश के साथ छोड़कर अपने दोस्त के पास चला गया। जाने से पहले अपनी बहन को धमकी दी कि अगर वह घटना के बारे में किसी और को बताएगी तो उसका भी वही हाल होगा, जो हाल उसकी मां का हुआ है। रविवार को दिनभर खेलने के बाद शाम को अपने दोस्त को लेकर आरोपी घर आया और ऑनलाइन आर्डर करके खाना मंगाया। आरोपी ने अपने दोस्त के साथ खाना खाया, लेकिन बिल्कुल भी भनक नहीं होने दी कि उसी घर में एक लाश भी है।

बदबू आई तो रूम फ्रेशनर छिड़का
जब आरोपी के दोस्त ने पूछा कि तुम्हारी मां कहां है ? इस पर उसने जवाब दिया कि उसकी दादी की तबीयत बहुत ज्यादा खराब है और वह वही पर गई हुई है। साथ में उसकी छोटी बहन भी चली गई है, लेकिन हकीकत में छोटी बहन को आरोपी लड़के ने अपनी मां की लाश के पास छोड़ा हुआ था। जो 3 दिनों तक अपनी मां के शव के साथ सोती रही। जब घर में बदबू आने लगी तो रूम फ्रेशनर से बदबू पर काबू पाया गया। 

एक कमरे में लाश और दूसरे कमरे में पार्टी
रविवार के बाद सोमवार को आरोपी ने अपने दूसरे दोस्त को घर में बुलाया और ऑनलाइन अंडा करी मंगाई। दोनों ने एक साथ खाना खाया। दूसरे दोस्त को भी आरोपी ने वारदात की भनक नहीं लगने दी। मंगलवार की सुबह जब उसका दोस्त चला गया तो आरोपी लड़का अपने अन्य दोस्तों के साथ खेलने के लिए मोहल्ले में निकल गया। इस दौरान काफी बदबू आने लगी। 

पिता को वीडियो कॉलिंग पर दिखाई मां की लाश
जब आरोपी को कुछ समझ में नहीं आया तो उसने शाम के समय अपने पिता को वीडियो कॉल की और पूरी वारदात के बारे में बताया। वीडियो कॉलिंग के दौरान आरोपी ने अपनी मां की लाश को भी अपने पिता को दिखाया। मां की लाश के बराबर में नवीन कुमार की 10 साल की बेटी सुबक-सुबक के रो रही थी। कॉल कटने के तुरंत बाद नवीन कुमार ने अपने एक रिश्तेदार को अपने घर भेजा। नवीन कुमार का रिश्तेदार पुलिस को अपने साथ लेकर घर उनके घर पहुंचा। जब पुलिस ने घर में घुस कर देखा तो सभी लोग दंग रह गए। पुलिस ने देखा कि महिला की लाश बेड में पड़ी हुई है और आरोपी ने अपनी बहन को जबरदस्ती अपनी मां की लाश के साथ सुलाया हुआ है।

बेटे ने अपनी मां को 6 गोलियां मारी
जिस समय पुलिस ने महिला की लाश को अपने कब्जे में लिया। उस समय लाश पूरी तरीके से सड़ चुकी थी। पुलिस को वह पिस्टल भी बरामद हुई है। जिससे आरोपी बेटे ने अपनी मां की हत्या की। पिस्टल की मैगजीन पूरी खाली मिली है। पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि आरोपी बेटे ने अपनी मां को 6 गोली मारी थी, लेकिन महिला की लाश पुलिस को सड़ी हुई मिली थी। जिसकी वजह से इस बात की पुष्टि नहीं हुई। हालांकि इस बात का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में होगा।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.