गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ प्रियंका का मौन धरना, बर्खास्तगी की मांग पर अड़ी कांग्रेस

लखनऊ : गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ प्रियंका का मौन धरना, बर्खास्तगी की मांग पर अड़ी कांग्रेस

गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ प्रियंका का मौन धरना, बर्खास्तगी की मांग पर अड़ी कांग्रेस

Tricity Today | गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ प्रियंका का मौन धरना

गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ प्रियंका का मौन धरना, बर्खास्तगी की मांग पर अड़ी कांग्रेस लखनऊ : उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी नरसंहार मामले में कांग्रेस पार्टी सोमवार को मौन धरना कर रही है। लखनऊ स्थित गांधी प्रतिमा पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने तमाम कांग्रेस नेताओं के साथ मौन धरना शुरू किया है। पार्टी के नेता किसानों को कुचले जाने के मामले में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी की मांग कर रहे हैं। मौन धरने में यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू , पूर्व सांसद पीएल पुनिया, कांग्रेस विधानमंडल की नेता अराधना मिश्रा (मोना) एमएलसी दीपक सिंह समेत कई नेता शामिल हुए हैं।

किसानों के आरोपियों को बचाने में लगी सरकार
मौन धरना करने से पहले प्रियंका गांधी ने कहा कि सरकार किसानों के आरोपियों को बचाने में लगी है। उन्होंने कहा कि जो अभी बीजेपी राज में हो रहा है, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। प्रियंका गांधी ने आरोप लगाया है कि योगी सरकार आरोपियों के साथ खड़ी है। बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने मामले में स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त करने की मांग की है।

केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस का मौन प्रदर्शन
कांग्रेस पार्टी ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में 11 अक्टूबर को मौन धरने का ऐलान किया था। कांग्रेस ने कहा था कि सभी जिलों में केंद्र सरकार के तहत आने वाले ऑफिसों के बाहर मौन धरना किया जाएगा। लखनऊ के साथ ही आज पंजाब के जालंधर में भी कांग्रेस ने मौन धरने का आयोजन किया। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्र सरकार के खिलाफ मौन धरना किया गया। सुबह 11.30 बजे से 1.30 बजे तक BSNL ऑफिस के बाहर धरना किया गया।

ये था मामला
बता दें कि बीते 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में आंदोलनकारी किसानों और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमे 8 लोगों की मौत हुई थी। 4 किसान, 2 भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता, 1 ड्राइवर और एक पत्रकार शामिल थे। किसानों की ओर से आरोप लगाया गया था, कि केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने किसानों को रौंद दिया। सीधे किसानों के ऊपर कार चढ़ाई। जिससे किसानों की मौत हुई है। इसके बाद भीड़ उग्र हो गई। भीड़ ने तोड़फोड़ और आगजनी की। मामले के बाद कई वीडियो भी सामने आई जिसमे किसानों के ऊपर जीप चढ़ाते हुए नजर आए।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.