एसटीएफ ने 23 लोगों को किया गिरफ्तार, दोबारा एक महीने में कराई जाएंगी परीक्षा

यूपी टीईटी पेपर लीक मामला: एसटीएफ ने 23 लोगों को किया गिरफ्तार, दोबारा एक महीने में कराई जाएंगी परीक्षा

 एसटीएफ ने 23 लोगों को किया गिरफ्तार, दोबारा एक महीने में कराई जाएंगी परीक्षा

Tricity Today | पेपर लीक करने वाले 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया

 एसटीएफ ने 23 लोगों को किया गिरफ्तार, दोबारा एक महीने में कराई जाएंगी परीक्षा लखनऊ : यूपी में आज आयोजित होने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET ) का पेपर लीक हो गया है। इसकी वजह से परीक्षा रद्द कर दी गई है। राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा निरस्त कर दी है। सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्र वायरल होने के बाद परीक्षा निरस्त करने निर्णय किया गया है। बता दें कि UPTET का प्रश्नपत्र वॉट्सएप पर लीक हुआ है। जिसके बाद यूपी सरकार एक महीने के भीतर दोबारा यूपीटीईटी की परीक्षा आयोजित कराने का फैसला लिया है। वहीं गंतव्य तक जाने के लिए सरकार ने मुफ्त साधन उपलब्ध कराए जाने के आदेश जारी किए हैं।

यूपी बिहार के लोग हैं शामिल
एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि पेपर लीक करने वाले 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें लखनऊ से 4, मेरठ 3, वाराणसी और गोरखपुर से 2 कौशाम्बी से 1 प्रयागराज से 13 लोग गिरफ्तार किये गए हैं उन्होंने बताया एक महीने बाद दोबारा परीक्षा आयोजित होगी। जिसमे अभ्यर्थियों को अब न कोई फीस जमा करनी होगी न फॉर्म भरना होगा। ये प्रश्न पत्र परीक्षा एजेंसी से ट्रेजरी के बीच लीक हुआ है। इसमें यूपी के अलावा बिहार के भी लोग शामिल है।

सीसीटीवी सर्विलांस की थी व्यवस्था
बता दें प्रदेश स्तर में 2554 परीक्षा केंद्रों पर 1291628 परीक्षार्थी इस परीक्षा में शाम‍िल होने वाले थे। वहीं दूसरी पाली में उच्च प्राथमिक स्तर की शिक्षक पात्रता परीक्षा में 1747 परीक्षा केंद्रों पर 873533 परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे। नकल विहीन परीक्षा कराए जाने को लेकर शासन ने व‍िशेष व्‍यवस्‍था की थी, लेक‍ि‍न पेपर लीक होने की सूचना के बाद इसे न‍िरस्‍त कर द‍िया गया। सभी परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा की सभी गतिविधियों की निगरानी के लिए लाइव सीसीटीवी सर्विलांस की व्यवस्था की गई थी।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.