यूपी में बुधवार से पिलाया जाएगा विटामिन ए का घोल, 2.5 करोड़ बच्चों का रखा गया लक्ष्य

Uttar Pradesh : यूपी में बुधवार से पिलाया जाएगा विटामिन ए का घोल, 2.5 करोड़ बच्चों का रखा गया लक्ष्य

यूपी में बुधवार से पिलाया जाएगा विटामिन ए का घोल, 2.5 करोड़ बच्चों का रखा गया लक्ष्य

Tricity Today | पिलाया जाएगा विटामिन ए का घोल

यूपी में बुधवार से पिलाया जाएगा विटामिन ए का घोल, 2.5 करोड़ बच्चों का रखा गया लक्ष्य Lucknow : उत्तर प्रदेश में बच्चो को कुपोषण से बचाने के लिए 3 अगस्त यानी कल से अभियान चलाया जाएगा। प्रदेश में चलाए जाने वाले इस अभियान के तहत करीब 2.5 करोड़ बच्चों को दवा की खुराक पिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभियान के दौरान नौ माह से पांच साल तक के बच्चों को विटमिन ए की खुराक दी जाएगी। प्रदेश में ऐसे बच्चों की संख्या करीब 24087625 हैं। इनमें से नौ माह से 12 माह तक के 1429192 बच्चे हैं। 

जानिए कितना दिया जाता है घोल
नियमित टीकाकरण के महाप्रबंधक डॉ. मनोज शुक्ल ने बताया कि बुधवार से प्रदेश में विटामिन ए से बच्चो को बचाने के लिए अभियान शुरू किया जा रहा है। इसके तहत बच्चों को आधा चम्मच या एक मिली लीटर घोल दिया जाएगा। वहीं एक से दो वर्ष के कुल 5385617 बच्चे हैं, इन बच्चों को एक चम्मच विटमिन ए का घोल दिया जाएगा। दो से पांच वर्ष तक के बच्चों को भी एक पूरा चम्मच यानी दो एमएल का घोल दिया जाएगा।

विटामिन ए की कमी से होती हैं ये बीमारी 
विटमिन ए की कमी से रतौंधी, कुपोषण, मानसिक दिव्यांगता और रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी हो सकती है। जानकारी के मुताबिक, एक से चार वर्ष के 16.9 प्रतिशत बच्चे विटमिन ए की कमी से जूझ रहे हैं। एक साल में विटमिन ए की दो खुराक लेने से सभी कारणों से होने वाली बच्चों की मौत में 23 प्रतिशत तक कमी लाई जा सकती है। वहीं खसरे के कारण होने वाली मृत्यु में 50 प्रतिशत कमी लाई जा सकती है। बता दें कि विटमिन ए वसा में घुलनशील विटमिन है। यह बच्चों को रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करता है। यही वजह है कि हर बच्चे को विटमिन ए की कुल नौ खुराक देने का प्रावधान है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.