यूपी विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को करारा झटका, कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने भाजपा की सदस्यता ली

बड़ी खबर : यूपी विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को करारा झटका, कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने भाजपा की सदस्यता ली

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को करारा झटका, कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने भाजपा की सदस्यता ली

Tricity Today | जितिन प्रसाद ने भाजपा की सदस्यता ली

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को करारा झटका, कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने भाजपा की सदस्यता ली उत्तर प्रदेश में अपनी जड़ें तलाश रही कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। पार्टी के यूपी के बड़े चेहरे और कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने आज थोड़ी देर पहले भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। थोड़ी देर पहले ही उन्होंने केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल और गृह मंत्री अमित शाह से लंबी मुलाकात की। दोपहर 1:00 बजे उनके नई दिल्ली स्थित भारतीय जनता पार्टी के मुख्यालय में भाजपा ज्वाइन करने की खबर थी। लेकिन मुलाकात की वजह से इसमें देरी हुई। 

आज सुबह से ही उनके कांग्रेस छोड़ने को लेकर अटकलें तेज थी। किसी को यकीन नहीं हो रहा कि यूपी का यह बड़ा चेहरा कांग्रेस को बीच मझधार में छोड़ कर किनारा पकड़ लेगा। दरअसल, जितिन प्रसाद लंबे समय से यूपी कांग्रेस के कद्दावर रहे हैं। लंबे वक्त से उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समाज को एकजुट करने का अभियान चला रहे हैं। ऐसा माना जा रहा था कि इसका लाभ आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिलेगा। लेकिन अब उनके बीजेपी में शामिल होने के बाद से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी के लिए यह बड़ी चुनौती है।



देशहित के लिए समर्पित है भाजपा
भाजपा ज्वाइन करने के मौके पर जितिन प्रसाद ने कहा, “मैंने पिछले 8-10 सालों में ये महसूस किया है कि आज देश में अगर कोई असली मायने में संस्थागत राजनीतिक दल है, तो वह भाजपा है। बाकी दल तो व्यक्ति विशेष और क्षेत्र के हो गए। मगर राष्ट्रीय दल के नाम पर भारत में सिर्फ भारतीय जनता पार्टी है। हमारा देश जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उसके लिए आज देशहित में कोई दल-कोई नेता सबसे उपयुक्त और मजबूती से खड़ा है, तो वो भाजपा-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। मेरा कांग्रेस पार्टी से 3 पीढ़ियों का साथ रहा है। मैंने ये महत्वपूर्ण निर्णय बहुत सोच-विचार और मंथन के बाद लिया है। आज सवाल ये नहीं है कि मैं किस पार्टी को छोड़कर आ रहा हूं। बल्कि सवाल ये है कि मैं किस पार्टी में जा रहा हूं, और क्यों जा रहा हूं।”

भाजपा ने चली चाल
इसके साथ ही बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी कद्दावर ब्राह्मण- भूमिहार चेहरों की तलाश में थी। इनके जरिए ही उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण-भूमिहार मतदाताओं को साधने की तैयारी भारतीय जनता पार्टी ने की है। इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुजरात में करीबी रहे पूर्व आईएएस अरविंद कुमार शर्मा को वीआरएस लेकर यूपी बुलाया गया। उन्हें यूपी विधान परिषद का सदस्य चुना गया। उनके जरिए पार्टी यूपी के भूमिहार मतदाताओं को लुभाने की चाल चल चुकी है। अब जितिन प्रसाद के रूप में पार्टी को एक कद्दावर ब्राह्मण चेहरा मिल गया है। यूपी की राजनीति के जानकारों का कहना है कि जितिन प्रसाद के भाजपा में आने से भारतीय जनता पार्टी को भारी बल मिलेगा। जबकि आधार खोज रही कांग्रेस को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.