प्रेम-प्रसंग में गोलियों से भूनकर स्कूल वैन चालक की हत्या

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Tricity Today Correspondent

शनिवार की सुबह को गाजियाबाद जिले में मसूरी थाना क्षेत्र के मिसलगढ़ी आकाश नगर में स्कूली वैन चालक पर बाइक सवार दो बदमाशों ने गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतारा, लोगोे ने घटना के पीछे प्रेम-प्रसंग बताया हैं। मृतक के चचेरे भाई ने एक महिला के पति व उसके साथी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश में जुटी है।

Photo Credit: 

शनिवार की सुबह को गाजियाबाद जिले में मसूरी थाना क्षेत्र के मिसलगढ़ी आकाश नगर में स्कूली वैन चालक पर बाइक सवार दो बदमाशों ने गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतारा, लोगोे ने घटना के पीछे प्रेम-प्रसंग बताया हैं। मृतक के चचेरे भाई ने एक महिला के पति व उसके साथी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश में जुटी है।

मूलरूप से थाना बीबीनगर, बुलंदशहर के गांव भैंसा खुर निवासी जितेंद्र काफी समय से गाजियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र के मिसलगढ़ी आकाश नगर में रह रहा था। 

वह क्षेत्र के ही डीएसपी स्कूल में बस ड्राइवर की नौकरी कर रहा था। शनिवार सुबह सात बजे वह स्कूल से वैन लेकर बच्चों को लेने जा रहा था। आकाश नगर में रफीकाबाद रेलवे लाइन के किनारे पहुंचने पर बाइक पर दो बदमाशो ने वैन के टायर में गोली मारकर उसे रुकवा दिया। 

जितेंद्र कुछ समझ पाता, इससे पहले ही आरोपियों ने देशी रिवॉल्वर से दो सिर और एक छाती में गोली मार दी। जितेंद्र की मौत की पुष्टि होने पर आरोपी मौके से फरार हो गए।

घटना की सूचना पर एसपी देहात नीरज कुमार जादौन और सीओ सदर प्रभात कुमार फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। जितेंद्र के परिजनों ने आकाश नगर निवासी रमेशचंद पर हत्या का आरोप लगाया। पुलिस के मुताबिक राजीव की पत्नी मंजू का राजीव से विवाद हो गया था जिसके चलते वह दोनों बच्चों के साथ जितेंद्र के घर पर रह रही थी।

पुलिस के मुताबिक पहले जितेंद्र छह भाईयों में दूसरे नंबर का था। वह पहले राजीव की गाड़ी ही चलाता था। पत्नी से अवैध संबंधों का आरोप लगाकर करीब तीन साल पहले राजीव ने जितेंद्र को नौकरी से हटा दिया था।

इसके बाद जितेंद्र ने खुद की वैन खरीदकर डीएसपी हायर सेकेंडरी स्कूल में लगा ली। करीब सात माह पहले राजीव ने जितेंद्र को पकड़वा दिया था, लेकिन राजीव की पत्नी जितेंद्र को छुड़ाकर ले आई थी।

दरअसल, राजीव का स्टेशनरी का काम था और वो ठप हो गया था, उसने मकान पर लोन भी ले लिया था। चुका न पाने पर बैंक ने मकान पर सील लगा दी। राजीव की पत्नी ने मकान का सौदा आठ लाख रुपये में कर दिया था, जिसका राजीव ने विरोध किया था, इसी बात को लेकर विवाद हो गया था। जिसके चलते राजीव की पत्नी अपने बेटी और बेटा को लेकर जितेंद्र के साथ रहने लगी थी। 

मृतक के परिजनों का कहना है कि पत्नी और बच्चों के जितेंद्र के घर जाने के बाद राजीव ने जितेंद्र को निपटाने की धमकी दी और आखिर में मार ही दिया।

प्रेम-प्रसंग के चलते हत्या की बात सामने आ रही है। मृतक के परिजनों ने एक नामजद सहित दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। जल्द उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
सुधीर कुमार सिंह, एसएसपी

School Van Driver, Ghaziabad SSP, Ghaziabad Police, Killed, In Love Realation Ship