BREAKING: बड़ा रेल हादसा, औरंगाबाद में 19 प्रवासी मजदूर रेल से कटकट मरे

Updated May 08, 2020 09:19:32 IST | Tricity Reporter

औरंगाबाद में आज सुबह बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है। रेल लाइन की पटरी पर सो रहे प्रवासी मजदूर मालगाड़ी की चपेट में आकर...

Photo Credit:  Tricity Today
औरंगाबाद में 19 प्रवासी मजदूर रेल से कटकट मरे

औरंगाबाद में आज सुबह बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है। रेल लाइन की पटरी पर सो रहे प्रवासी मजदूर मालगाड़ी की चपेट में आकर मारे गए हैं। अभी तक 16 प्रवासी मजदूरों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। कई को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हादसा शुक्रवार तड़के करीब 6:30 बजे हुआ है। रेलवे ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं।

औरंगाबाद ट्रेन हादसे में पुलिस अधीक्षिका ने ट्राईसिटी टुडे से बात करते हुए बताया कि इस हादसे में अब तक 16 लोगों की मौत हुई है। जबकि, 3 लोग इस हादसे से सुरक्षित बच गए हैं, जो पटरी के पास में बैठे हुए थे। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में पटरी पर सोये प्रवासी मजदूरों के ऊपर से मालगाड़ी गुजरने से 16 की मौत हो गई है। ये मजदूर अपने घर वापस लौट रहे थे। साउथ सेंट्रल रेलवे के चीफ पीआरओ ने बताया कि सूचना मिलने के बाद आरपीएफ और स्थानीय पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची है।

सभी 19 प्रवासी मजदूर औरंगाबाद से आने गांव जाने वाली ट्रेन पकड़ने के लिए जालना से औरंगाबाद पैदल जा रहे थे। पैदल चलते-चलते थक गए। रात में चलते हुए सभी ने सटाना शिवार इलाके में रेलवे पटरी पर ही अपना बिस्तर लगाया। शुक्रवार की सुबह करीब 6.30 बजे एक मालगाड़ी ट्रैक पर सोते हुए मजदूरों के ऊपर से गुजर गई और हादसे में 16 मजदूरों की मौत हो गई।

औरंगाबाद-जालना रेलवे ट्रैक पर हादसा हुआ है। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर मौजूद हैं। यह हादसा महाराष्ट्र के औरंगाबाद के कर्माड स्टेशन के पास हुआ है। सुबह साढ़े 6 बजे हादसा हुआ है। हादसे में बच गए तीन मजदूरों ने अधिकारियों को बताया है कि वह लोग पैदल चलते-चलते थक गए थे। बीती रात करीब 9:00 बजे उन लोगों ने सोने का फैसला लिया और यहीं रेलवे की पटरी पर अपने बिस्तर लगा लिए। दरअसल, उन्हें जानकारी थी कि पूरे देश भर में रेल बंद हैं। ऐसे में कोई ट्रेन नहीं आएगी। आसपास झाड़ियां बहुत ज्यादा थीं। साफ सुथरा इलाका नहीं था। इस कारण रेलवे की पटरी पर ही बिस्तर लगाने का फैसला लिया था।

मजदूरों ने बताया कि यह जानकारी इन लोगों को नहीं थी कि देशभर में सामान इधर से उधर पहुंचाने के लिए माल गाड़ियां चलाई जा रही हैं। जिस वक्त मालगाड़ी आई 16 लोग सो रहे थे और 3 लोग रेल की पटरी के किनारे पर बैठे हुए थे। इन लोगों ने अपने साथियों को जगाने की कोशिश की लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। मालगाड़ी बहुत स्पीड पर थी और इन लोगों को उसका अनुमान नहीं हो पाया। मालगाड़ी इन लोगों के ऊपर गुजर गई। सभी 16 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

Migrant labourers, Train Accident, South Central Railway, Indian Railway, Maharashtra Govt, Aurangabad Train Accident, Train Accidents in India, Big train accidents in India, RPF, Railway Police Force