COVID-19: शारदा अस्पताल में बनेगा 200 बेड का आइसोलेशन वॉर्ड

Updated Mar 25, 2020 19:49:31 IST | Rakesh Tyagi

शारदा अस्पताल प्रबंधन, उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ रजनीश दुबे  के बीच हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई। इसके बाद शारदा हॉस्पिटल प्रबंधन ने निर्णय लिया है कि कोरोना वायरस COVID-19 की रोकथाम और उपचार के लिए 200 बेड का आइसोलेशन...

Photo Credit:  Tricity Today
Sharda Hospital

शारदा अस्पताल प्रबंधन, उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ रजनीश दुबे  के बीच हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई। इसके बाद शारदा हॉस्पिटल प्रबंधन ने निर्णय लिया है कि कोरोना वायरस COVID-19 की रोकथाम और उपचार के लिए 200 बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार किया जायेगा। साथ ही उनके सेवा में कार्यरत मेडिकल टीम के लिए एक अलग क्वाराइंटाइन वार्ड बनाया जाएगा। जिसमें रहकर मरीजों का बेहतर ढंग से उपचार कर सकें। 

शारदा अस्पताल के प्रवक्ता अजित सिंह ने बताया, जल्द ही शारदा विश्वविद्यालय में हर तरह की जांच उपलब्ध हो जाएगी। उसके लिए शारदा विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ मेडिकल साइंसेज के प्रिंसिपल, डॉक्टर्स, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ, सहायक स्टाफ और विश्वविद्यालय के अन्य अधिकारी इस महामारी की रोकथाम व उपचार के लिए दिन-रात काम में लगे हुए हैं।

शारदा विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ मेडिकल साइंस में सभी विषयों में पीजी की पढ़ाई होती हैं तथा रिसर्च की सुविधाएं उपलब्ध है। शारदा हॉस्पिटल 920 बेड का आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित हॉस्पिटल है। सभी विभागाध्यक्षों को अपने विभाग का रोस्टर तैयार करने को कहा गया है, जो देश के इस मुसीबत के समय में बढ़ चढ़कर कार्य कर सकें। नर्सिंग स्टाफ और एलायड हैल्थ के भी सभी फैकल्टी स्टाफ को उपलब्ध रहने के लिए कहा गया है। इस कार्य की स्वयं शारदा हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ आशुतोष निरंजन निगरानी करेंगे।

शारदा विश्वविद्यालय के चांसलर पीके गुप्ता ने हॉस्पिटल में कार्यरत सभी साथियों को स्वयं से आगे आने के लिए बधाई दी और उम्मीद जताई कि इसी तरह हमारे सभी सदस्य व्यक्तिगत हित त्यागकर देश के सेवा में कार्यरत रहेंगे। बुधवार को शारदा परिसर में रहने वाले डॉक्टर और हॉस्पिटल में कार्यरत लोगों ने नवरात्रि का पूजन किया तथा उम्मीद जताई कि जल्दी ही हमारे देश तथा सम्पूर्ण विश्व को इस महामारी से मुक्ति मिले।