नोएडा और ग्रेनो में दो दिन पार्कों में घूमना और जोगिंग खतरे से खाली नहीं

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Tricity Today Reporter

नोएडा और ग्रेटर नोएडा के लोग ध्यान रखें, अगले दो दिनों तक पार्कों में सैर करना और र्जोंगग खतरे से खाली नहीं है। दरअसल, दीवाली पर पटाखों ने इतना प्रदूषण फैला दिया है कि सांस तक लेना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में बच्चों और बुजुर्गों को तो घर से बाहर निकलने में परहेज करना चाहिए। डॉक्टरों का कहना है कि लोगों को आंखों में जलन महसूस हो रही है। सांस लेने में तकलीफ हो रही है।

Photo Credit: 
प्रतीकात्मक फोटो

NOIDA: नोएडा और ग्रेटर नोएडा के लोग ध्यान रखें, अगले दो दिनों तक पार्कों में सैर करना और र्जोंगग खतरे से खाली नहीं है। दरअसल, दीवाली पर पटाखों ने इतना प्रदूषण फैला दिया है कि सांस तक लेना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में बच्चों और बुजुर्गों को तो घर से बाहर निकलने में परहेज करना चाहिए। डॉक्टरों का कहना है कि लोगों को आंखों में जलन महसूस हो रही है। सांस लेने में तकलीफ हो रही है।

डा.विशाल शर्मा ने बताया कि लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ हो रही है। बच्चों और बुजुर्गों को घर से निकलने में परहेज बरतने की जरूरत है। अगले दो दिनों तक पार्कों में घूमने नहीं जाएं और जोगिंग नहीं करें। दौड़ने के कारण ज्यादा सांस लेने की जरूरत होती है। जिससे प्रदूषित हवा शरीर में जाएगी। जिससे संक्रमण हो सकता है। साफ हवा नहीं मिलने के कारण ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। जिससे बेहोशी आ सकती है। डा.विशाल शर्मा का कहना है कि कम से कम अगले दो दिनों तक हवा साफ होने का इंतजार करें।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने दो घंटों के लिए पटाखे छोड़ने की इजाजत दी थी। लोगों ने जमकर हंगामा किया और पटाखे छोड़े। लोगों ने आठ बजे से पहले और दस बजे के बाद भी आतिशबाजी की। पुलिस से शिकायत की गई हैं। जिससे प्रदूषण के स्तर के में कोई कमी नहीं आई है। दीवाली पर प्रदूषण के स्तर में पिछले वर्षों के मुकाबले कोई खास कमी नहीं आई है। दीवाली के बाद ग्रेटर नोएडा में सोमवार की सुबह पूरे दिल्ली एनसीआर में सबसे प्रदूषित थी। दिनभर से पूरे शहर के ऊपर धुंए की चादर छाई हुई है। सुबह 11:30 बजे ग्रेटर नोएडा में एयर क्वालिटी इंडेक्स 364 था। जो नोएडा और दिल्ली के मुकाबले ज्यादा खराब था। इन हालात के कारण लोगों को आंखों में जलन महसूस हो रही है। सांस लेने में तकलीफ है।

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च के अनुसार सोमवार की सुबह ग्रेटर नोएडा में एक्यूआई 364 आंका गया। वहीं, दिल्ली में यह सूचकांक 306 और नोएडा में 356 था। गुरुग्राम में 279 रहा। कुल मिलाकर दिल्ली, नोएडा और गुरुग्राम से ज्यादा बुरा हाल ग्रेटर नोएडा की हवा का है।

 

Noida, Pollution, Diwali, Greater Noida, Walking in Parks