सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा विवाद में एसआई समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड, 40 लोग गए जेल

बड़ी खबर : सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा विवाद में एसआई समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड, 40 लोग गए जेल

सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा विवाद में एसआई समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड, 40 लोग गए जेल

Tricity Today | सम्राट मिहिर भोज

सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा विवाद में एसआई समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड, 40 लोग गए जेल उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में सम्राट मिहिर भोज (Emperor Mihir Bhoj) की प्रतिमा को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। मध्य प्रदेश के मुरैना (Morena) में इस विवाद के चलते एसआई समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड हो गए हैं और 40 लोगों को जेल भेज दिया गया है। मध्य प्रदेश के ग्वालियर समेत मुरैना में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है।

मुरैना में भी सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा
दरअसल, मध्य प्रदेश के मुरैना और उत्तर प्रदेश के दादरी में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा लगाई गई है। सम्राट मिहिर भोज के नाम के आगे गुर्जर शब्द लिखा गया है। इसको लेकर गुर्जर जाति और राजपूत जाति में विवाद पैदा हो गया है। राजपूत समाज के लोग मिहिर भोज को अपना पूर्वज बता रहे है और गुर्जर समाज मिहिर भोज को अपना पूर्वज बता रहे हैं। जिसकी वजह से दोनों जातियों में लगातार विवाद पैदा होता जा रहा है।

राजपूत समाज में भारी रोष
मध्य प्रदेश के मुरैना में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा पर लगी शिलापट पर लिखे गुर्जर शब्द से राजपूत समाज के लोगों में भारी रोष व्याप्त है। गुर्जर समाज के लोग और राजपूत समाज के लोग आमने-सामने आ गए हैं। बीते दिनों ग्वालियर और मुरैना में इस बीच काफी वाहनों को क्षतिग्रस्त किया है। मध्यप्रदेश में हालत सामान्य नहीं है। इस पूरे मामले में अभी तक पुलिस अधिकारियों ने एसआई समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड कर दिए हैं और 40 लोगों को जेल भेज दिया है।

दादरी में भी बढ़ा विवाद
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के दादरी में भी सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा लगी हुई है। जिसका अनावरण उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 22 सितंबर को किया था। इस प्रतिमा पर भी गुर्जर शब्द लिखा हुआ है। जिसको लेकर राजपूत समाज और गुर्जर समाज के लोगों के बीच मतभेद है। मंगलवार को कुछ लोगों ने सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा पर लगी शिलापट पर लिखें योगी आदित्यनाथ और भाजपा एमपी-एमएलए के नाम पर कालिख पोत दी थी। इस मामले में पुलिस ने 150 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.