बाइक बोट घोटाला: 12 प्रदेश के निवेशकों ने न्याय के लिए बनाया संगठन

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Tricity Today Reporter

बाइक बोट फर्जीवाड़े का शिकार हुए 12 प्रदेश के निवेशकों ने न्याय के लिए एक संगठन तैयार किया है। जिसमें प्रत्येक प्रदेश से एक व्यक्ति को नामित किया गया है। यह प्रतिनिधि मंडल निवेशकों को न्याय दिलाने के लिए रणनीति तैयार करेगा। पीड़ित निवेशकों ने सोशल मीडिया के माध्यम जुड़कर संगठन का गठन किया  है। संगठन के प्रतिनिधि मंडल ने सोमवार को एसएसपी से मुलाकात की। एसएसपी से फरार आरोपियों की गिरफ्तारी और उनकी संपत्ति जब्त करने की मांग की।  

Photo Credit: 
प्रतीकात्मक फोटो

GREATER NOIDA: बाइक बोट फर्जीवाड़े का शिकार हुए 12 प्रदेश के निवेशकों ने न्याय के लिए एक संगठन तैयार किया है। जिसमें प्रत्येक प्रदेश से एक व्यक्ति को नामित किया गया है। यह प्रतिनिधि मंडल निवेशकों को न्याय दिलाने के लिए रणनीति तैयार करेगा। पीड़ित निवेशकों ने सोशल मीडिया के माध्यम जुड़कर संगठन का गठन किया  है। संगठन के प्रतिनिधि मंडल ने सोमवार को एसएसपी से मुलाकात की। एसएसपी से फरार आरोपियों की गिरफ्तारी और उनकी संपत्ति जब्त करने की मांग की।  

बाइक बोट कंपनी ने देशभर के कई प्रदेशों के लाखों लोगों को शिकार बनाया। निवेशकों को एक साल में उनके द्वारा निवेश की गई रकम को दोगुनी करने का झांसा देकर अरबों रुपए ठग लिए। निवेशकों ने अब न्याय के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़कर आल इंडिया मल्टीलेवल विक्टिम हेल्प ऑर्गनाइजेशन नाम से संगठन बनाया है। जिसमें 12 प्रदेशों के एक निवेशक शामिल हुए हैं। सोमवार को संगठन के नेतृत्व में विभिन्न प्रदेशों से आए पीड़ितों का प्रतिनिधि मंडल एसएसपी कार्यालय पहुंचा। संगठन के पदाधिकारियों ने एसएसपी वैभव कृष्ण से मुलाकात की। 

संगठन की अध्यक्ष एडवोकेट पूनम कालिया ने बताया कि गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड कंपनी के पदाधिकारियों ने सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से देश के लाखों लोगों से अरबों रुपये की ठगी की है। इसके बावजूद पीड़ित निवेशक आरोपियों की गिरफ्तारी और संपत्ति जब्त करने की मांग को लेकर भटक रहे हैं। जब तक आरोपी गिरफ्तार नहीं होंगे और उनकी संपत्ति जब्त नहीं की जाएगी, तब तक पीड़ितों का रुपया वापस नहीं मिल पाएगा। वहीं,  कई पीड़ितों की शिकायत पर अब तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। वहीं, मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश किए जाने के बावजूद अब तक जांच सीबीआई को नहीं सौंपी गई है। संगठन ने न्याय के गुहार लगाई है। 

संगठन ने 15 व्हाट्सअप ग्रुप बनाएं
पीड़ित निवेशकों ने बताया कि उन्होंने 15 वाहट्सएप ग्रुप बनाए हैं। प्रत्येक ग्रुप में 256 निवेशक उनके साथ जुड़े हुए हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से वह न्याय के लिए रणनीति तैयार करेंगे। संगठन के पदाधिकारी जब कुछ भी होगा उसे अपडेट करेंगे। जिससे कि निवेशकों को कार्रवाई से अवगत करवाया जा सकें। 

Bike Bot scam, Sanjay Bhati Bike Bot, Greater Noida, Noida, Noida Police, UP Police, Additional Director, Whatsaap Group