फ्लैट दिलाने के नाम पर की 20 करोड़ की ठगी करने वाले बाप-बेटा गिरफ्तार, बेटा एमबीए और बाप बैंक मैनेजर

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | TricityToday Correspondent

फर्जी ब्रोक्रेज कंपनी के जरिए फ्लैट दिलाने के नाम पर 20 करोड़ रूपये की ठगी करने वाले बाप-बेटे को यूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। पिछले डेढ़ से साल में करीब 15 लोगों के साथ धोखाधड़ी कर चुके हैं। हैरानी की बात ये है कि बेटा एमबीए है और बाप बैंकिंग सेक्टर का कर्मचारी है। बाकायदा एक फर्जी ब्रोकरेज कंपनी बनाकर और कुछ लड़कों को नौकरी पर रख कर ये फर्जीवाड़ा किया जा रहा था।

Photo Credit: 

फर्जी ब्रोकरेज कंपनी के जरिए फ्लैट दिलाने के नाम पर 20 करोड़ रूपये की ठगी करने वाले बाप-बेटे को यूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। पिछले डेढ़ से साल में करीब 15 लोगों के साथ धोखाधड़ी कर चुके हैं। हैरानी की बात ये है कि बेटा एमबीए है और बाप बैंकिंग सेक्टर का कर्मचारी है। बाकायदा एक फर्जी ब्रोकरेज कंपनी बनाकर और कुछ लड़कों को नौकरी पर रख कर ये फर्जीवाड़ा किया जा रहा था।

पश्चिमी यूपी एसटीएफ-सीओ राजकुमार मिश्रा ने बताया कि सुरेंद्र कुमार डोगरा और उसका बेटा कुणाल डोगरा को सेक्टर-36 थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। इन दोनो बाप-बेटे ने सेक्टर-63 में स्पेेसरा इंफ्राविजन नाम से कंपनी खोली थी। ये दोनो बड़े बिल्डर प्रोजेक्ट में अपनी पार्टनरशिप बताकर लोगों को अपना शिकार बनाते थे। ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन की मेसकाॅर्ट मनोरथ और ग्रेटर नोएडा की कासा ग्रीन जैसे प्रोजेक्ट भी शामिल बताते थे। इस पार्टनरशिप के आधार पर ही कई लोगों से फ्लैट बुकिंग करायी। राजकुमार मिश्रा ने बताया कि इस फर्जी कंपनी के बैंक अकाउंट और रेंट एग्रीमेंट के दस्तावेज भी फर्जी पाए गए हैं।

गिरफ्तार किया गया आरोपी सुरेंद्र डोगरा बैंक आॅफ इंडिया से मैनेजर के पद से रिटायर हुआ था। ठगी करने के बाद कुणाल दुबई जाकर छिप गया जबकि सुरेंद्र डोगरा पंजाब में जाकर छिप गया। दोनो ने ही दुबई और पंजाब में भी रियल एस्टेट के फर्जीवाड़े का काम शुरू कर दिया था। आरोपियों नेएयरपोर्ट अथाॅरिटी के अधिकारी आशीष भट्टाचार्य से 87 लाख रूपए की ठगी की थी। इसके खिलाफ आशीष की ओर से नोएडा थाना सेक्टर-39 में मुकदमा दर्ज कराया गया था। डाॅ संदीप नागर से मेसकाॅर्ट मनोरथ में फ्लैट दिलाने के नाम पर 44 लाख रूपये, नेवी कमांडर राजकुमार नागर से 23 लाख रूपये, नरेश गर्ग से 9 लाख रूपये की ठगी की गई थी।

STF, stf west up, greater noida