ग्रेटर नोएडा वेस्ट: पैरामाउंट गोल्फ विला सोसाइटी में खराब निर्माण के कारण हादसा, बाल-बाल बची महिला

ग्रेटर नोएडा वेस्ट: पैरामाउंट गोल्फ विला सोसाइटी में खराब निर्माण के कारण हादसा, बाल-बाल बची महिला

ग्रेटर नोएडा वेस्ट: पैरामाउंट गोल्फ विला सोसाइटी में खराब निर्माण के कारण हादसा, बाल-बाल बची महिला

Tricity Today | पैरामाउंट गोल्फ विला सोसाइटी में खराब निर्माण के कारण हादसा

ग्रेटर नोएडा वेस्ट: पैरामाउंट गोल्फ विला सोसाइटी में खराब निर्माण के कारण हादसा, बाल-बाल बची महिला

ग्रेटर नोएडा की हाउसिंग सोसाइटीज में घटिया निर्माण के कारण हो रहे हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। शनिवार को एक बार फिर एक हाउसिंग सोसायटी में बड़ा हादसा हुआ। जिसमें एक महिला की जान बाल-बाल बच गई है। पैरामाउंट गोल्फ विला सोसाइटी में खराब निर्माण के कारण विला के बाथरूम के अंदर प्लास्टर उखड़ गया। जिससे बाथरूम में गीजर टॉयलेट कमोड पर आकर गिरा। इस हादसे में महिला की जान बाल बाल बची है। महिला का कहना है कि बिल्डर लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। सोसायटी के निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया है।

ग्रेटर नोएडा की गोल्फ फारेस्ट हाउसिंग सोसायटी में रहने वाली विनीता ने बताया कि शनिवार की सुबह वह वाशिंग मशीन से कपड़े धोने के लिए अपने बाथरूम में गई थीं। उसी दौरान उन्होंने देखा की गीजर दीवार से उखड़ कर गिर रहा है। वह अपनी जान बचाने के लिए बाथरूम से बाहर की तरफ दौड़ीं। तभी गीजर कमोड पर आकर गिरा और टॉयलेट कमोड बुरी तरह टूटकर कई हिस्सों में बट गया। इस हादसे से परिवार में दहशत व्याप्त हो गई है। 

विनीता का कहना है, "हमने यहां एक करोड रुपए खर्च करके यह घर खरीदा है। अब लगने लगा है कि घर खरीदने की बजाय कोई समस्या खरीद ली है। सोमवार को हुई बारिश के बाद सोसाइटी का बुरा हाल हो गया। घुटनों तक पूरी सोसाइटी में पानी भरा हुआ था। सारी कारें पानी में डूब गई थीं। कई दिनों तक पानी के बीच खड़ी कारों में बहुत नुकसान हुआ है। हमें अपनी कार ठीक करवाने के लिए पैसा खर्च करना पड़ा। कारों में भीतर तक पानी घुस गया था। अब शनिवार को यह हादसा हो गया है। सोसाइटी में पानी भरने के कारण घरों में सीपेज से बुरा हाल है। जिसकी वजह से दीवारों और छतों से प्लास्टर करने लगा है।" 

विनीता कहती हैं, "आज हादसा होने के बाद दोपहर बाद 4:00 बजे तक वह लगातार मेंटेनेंस डिपार्टमेंट को फोन करती रहीं। उन्हें कॉल करके बताया कि मेरे घर में इस तरह से हादसा हुआ है। गीजर से बिजली के तार निकल रहे हैं। पानी बरस रहा है। ऐसे में कोई और दूसरी बड़ी समस्या हो सकती है। हम लोग टॉयलेट का इस्तेमाल भी नहीं कर पा रहे हैं। मेंटेनेंस डिपार्टमेंट के कर्मचारी बार-बार आकर देखने की बात कहते रहे, लेकिन किसी ने आकर नहीं देखा। शाम 4:00 बजे मेंटेनेंस डिपार्टमेंट से कर्मचारी आया और उसने गीजर को उठाकर बाथरूम के कोने में रख दिया। इन समस्याओं को लेकर पता नहीं कितनी बार बिल्डर से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन कोई समाधान करने के लिए तैयार नहीं है। हाउसिंग सोसाइटी का कंस्ट्रक्शन बेहद घटिया और बेतरतीब है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पूरी सोसाइटी में थोड़ी सी बारिश होते ही घुटनों तक पानी भर जाता है। यहां ड्रेनेज, सीवर और तमाम दूसरी मूलभूत सुविधाएं अब समस्याएं बन चुकी हैं।"

विनीता बताती हैं, "मेरे परिवार में बुजुर्ग माता-पिता और दो बच्चे हैं। मैं और मेरी बेटी बाथरूम का इस्तेमाल करते वक्त अंदर से बंद कर लेते हैं। ईश्वर ना करें अगर ऐसा हादसा उस दौरान हो जाए तो बाहर घर में तो किसी को कुछ पता भी नहीं चलेगा। मैंने तो किसी तरह अपनी जान बचा ली लेकिन अगर कमोड पर कोई बुजुर्ग बैठा होता तो क्या होता है। हम लोग तो पूरी जिंदगी खुद को कोसते ही रह जाते। आजकल बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस चल रही हैं। बच्चे मोबाइल या टेबलेट पर पढ़ते हुए और कान में ईयर लीड लगाकर बाथरूम का इस्तेमाल करते रहते हैं। उस दौरान वह लोग बेहद सावधान रहते हैं।" विनीता का कहना है, "यह भी संभव नहीं हो सकता कि कोई व्यक्ति अपने घर में जितनी बार बाथरूम का इस्तेमाल करने के लिए घुसे, हर बार पहले गीजर कमोड और दूसरी फिटिंग्स को देखें।"

आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोसाइटीज में यह हादसा विनीता के साथ कोई पहली बार नहीं हुआ है। शहर की तमाम हाउसिंग सोसाइटीज में इस तरह के हादसे लगातार हो रहे हैं। इससे पहले गौर सिटी, सुपरटेक इकोविलेज और तमाम दूसरे आवासीय परिसरों में छत गिर चुकी हैं। प्लास्टर उखड़ रहे हैं। बालकोनी टूट रही हैं। दीवारें ढह रही हैं। कई मामलों में पुलिस ने एफआइआर भी दर्ज की है। शहर के निवासी लगातार विकास प्राधिकरण को शिकायत देकर बिल्डरों के कंस्ट्रक्शन की जांच आईआईटी या किसी दूसरी सक्षम एजेंसी से करवाने की मांग करते रहते हैं।

लोगों का यह भी आरोप है कि विकास प्राधिकरण कभी संजीदगी से इस दिशा में कोई कदम उठाने के लिए तैयार नहीं होता है। इस मुद्दे पर बात करने के लिए पैरामाउंट गोल्फ फॉरेस्टे सोसायटी के मेंटेनेंस डिपार्टमेंट और बिल्डर से संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन किसी ने कोई जवाब नहीं दिया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.