बाइक बोट कंपनी के सीएमडी संजय भाटी की पत्नी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज, दीप्ति बहल पर हैं गम्भीर आरोप

Updated Oct 23, 2020 20:17:42 IST | Mayank Tawer

जिला न्यायालय ने बाइक बोट घोटाले के मुख्य आरोपी और कम्पनी के सीएमडी संजय भाटी की पत्नी दीप्ति बहल की अग्रिम जमानत याचिका खारिज...

बाइक बोट कंपनी के सीएमडी संजय भाटी की पत्नी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज, दीप्ति बहल पर हैं गम्भीर आरोप
Photo Credit:  Tricity Today
संजय भाटी

जिला न्यायालय ने बाइक बोट घोटाले के मुख्य आरोपी और कम्पनी के सीएमडी संजय भाटी की पत्नी दीप्ति बहल की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है। आरोपी दीप्ति बहल ने 19 मुकदमों में अग्रिम जमानत के लिए न्यायालय में अर्जी दाखिल की थी। आरोपी महिला पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित है।

जिला न्यायालय के अपर जिला शासकीय अधिवक्ता (अपराध) धर्मेंद्र जयंत ने बताया कि ग्रेटर नोएडा के चीती गांव के रहने वाले बाइक बोट कंपनी के सीएमडी संजय भाटी की पत्नी दीप्ति बहल के खिलाफ दादरी कोतवाली में 57 मुकदमे दर्ज हैं। लेकिन वह अभी तक गिरफ्तार नहीं हो सकी है। गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने दीप्ति बहल के ऊपर 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा है। दीप्ति बहल ने बाहर रहते हुए 19 मुकदमों में जिला न्यायालय में अंतरिम जमानत के लिए याचिका दायर की थी। जिला न्यायालय के विशेष न्यायाधीश वेद प्रकाश वर्मा की अदालत ने सुनवाई करते हुए सभी अग्रिम जमानत  याचिकाओं को खारिज कर दिया है।

कैसे हुई ठगी?
संजय भाटी नोएडा में बीएसपी का नेता है और एक विधायक का करीबी भी। उसने साल 2010 में कंपनी शुरू की और साल 2018 में बाइक बोट नाम की स्कीम लांच की। ऐप बेस्ड टैक्सियों की तर्ज पर शुरू हुई इस स्कीम में बाइक टैक्सी मिलती थी। कंपनी के पास हजारों मोटरसाइकिल थी, लेकिन एक भी मोटरसाइकिल खुद संजय भाटी के पैसे से नहीं आई थी बल्कि ऐसे ही भोले भाले लोगों को रिटर्न का लालच देकर पैसा लिया जाता और फिर उसी से मोटरसाइकिल खरीद ली जाती। 

लोगों को आश्वासन था कि एक बाइक की कीमत करीब 62 हजार रुपये देने होंगे और साल भर करीब दस हजार रुपये का रिटर्न मिलेगा। इस तरह सिर्फ एक साल में पैसा लगभग डबल। लोगों ने इस स्कीम को हाथों हाथ लिया और बड़े शहरों के अलावा करीब 50 शहरों में बाइक बोट की बाइक सड़कों पर दिखने लगीं। एक अनुमान की मानें तो इस स्कीम में दो लाख से अधिक लोगों को ठगा गया। नोएडा ईओडब्लयू में पहले से ही कंपनी के खिलाफ बाइक बोट फर्जीवाड़ा की एफआईआर दर्ज है। इसके अलावा भी इस स्कीम में फर्जीवाड़े की दर्जनों एफआईआर दर्ज होने की बात सामने आई है। नोएडा पुलिस ने कई आरोपियों को गिरफ्तार भी है, जबकि संजय भाटी ने पिछले महीने ही कोर्ट में सरेंडर किया था।

Sanjay Bhati, Bike Boat Company, Greater Noida, Noida News

Trending

नोएडा
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
उत्तर प्रदेश
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
ग्रेटर नोएडा
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
ग्रेटर नोएडा
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
यमुना सिटी
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका