GBU और साईनी एडवांस टेक्नोलॉजीज के बीच छात्रों के लिए बड़ा समझौता

Updated Feb 15, 2020 13:47:40 IST | Tricity Today Reporter

साइनी एडवांस टेक्नोलॉजी, गुरुग्राम से आये प्रतिनिधि मंडल व गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों के समक्ष के समझौता हुआ। इस समझौते का उद्देश्य छात्र समुदाय के बीच उत्पन्न हो रहे व्यावसायिक कौशल के अंतराल को समाप्त करना...

Photo Credit:  Tricity Today
AmoU between Gautam Buddha University and Saini Advanced Technologies

आर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स व ब्लॉकचेन तकीनीकी को बढ़ावा देने के लिए गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय ने साईनी एडवांस टेक्नोलॉजी के साथ साझा समझौता किया है। 

शुक्रवार को साइनी एडवांस टेक्नोलॉजी, गुरुग्राम से आये प्रतिनिधि मंडल व गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों के समक्ष के समझौता हुआ। इस समझौते का उद्देश्य छात्र समुदाय के बीच उत्पन्न हो रहे व्यावसायिक कौशल के अंतराल को समाप्त करना व आर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स के साथ ब्लॉकचेन तकीनीकी के क्षेत्र में रोजगार के अवसर प्रदान करना है। इस समझौते के अनुसार विद्यार्थियों को सॉफ्ट स्किल्स की ऐसी ट्रेनिंग देना है जिससे वो पूर्ण तरीके से औद्योगिक कार्य की क्षमता का विकास कर सके। 

इस कड़ी में गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय आर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स व ब्लॉकचेन तकीनीकी को इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट के सिलेबस में शामिल करेगा व बीटा टेस्टिंग के लिए मानव संसाधन विद्यार्थियों के रूप में साइनी एडवांस टेक्नोलॉजीज को उपलब्ध करएगा। 

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय साईनी एडवांस टेक्नोलॉजीज को शोध कार्यों के लिए अपना डाटा सेंटर उपलब्ध करएगा व उसके पास कभी भी इसे रोकने का अधिकार सुरक्षित होगा। साईनी एडवांस टेक्नोलॉजीज छात्रों को शैक्षणिक मार्गदर्शन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स व ब्लॉकचेन तकीनीकी पर शोध, ऑनलाइन व ऑफलाइन ट्रेनिंग कार्यक्रम, स्टडी मॉड्यूल, शोध कार्यों में शोधार्थियों की सहायता, कंपनी विजिट व उनके प्लेसमेंट में हरसंभव मदद करेगी। 

इस अवसर पर विश्विद्यालय के कुलपति प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा, कुलसचिव बच्चू सिंह, डीन एकेडेमिक्स श्वेता आनंद, स्कूल ऑफ़ आई.सी.टी के डीन प्रो. संजय कुमार शर्मा, कंप्यूटर साइंस के विभागाध्यक्षय डा. प्रदीप तोमर, डा. अरुण सोलंकी व डा. संध्या तरार व साईनी एडवांस टेक्नोलॉजीज के प्रोजेक्ट मैनेजर राकेश डंडू, ए.आई वैज्ञानिक अंकुर बिष्ट, सी.ई.ओ कँवल अरोरा व सी.ओ.ओ  कप्तान विकस पांडेय आदि मौजूद रहे।