नोएडा में भारी ट्रैफिक वाले चौराहों पर लगीं एंटी स्मॉग गन, प्रदूषण पर काबू पाने में जुटा प्राधिकरण

नोएडा में भारी ट्रैफिक वाले चौराहों पर लगीं एंटी स्मॉग गन, प्रदूषण पर काबू पाने में जुटा प्राधिकरण

Tricity Today | नोएडा में भारी ट्रैफिक वाले चौराहों पर लगीं एंटी स्मॉग गन

Noida News : नोएडा शहर में पिछले एक सप्ताह से प्रदूषण का स्तर खतरनाक श्रेणी में है। हालात पर काबू पाने के लिए विकास प्राधिकरण ने शहर के भारी यातायात वाले चौराहों पर एंटी स्मॉग गन (Anti Smog Gun) लगा दी हैं। इससे पहले 30 कंस्ट्रक्शन साइट पर भी एंटी स्मॉग गन लगाई जा चुकी हैं। मंगलवार को यह जानकारी नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO Noida) ऋतु महेश्वरी ने दी है। सीईओ ने कहा कि प्रदूषण को काबू करने के लिए विकास प्राधिकरण (Noida Authority) का पूरा अमला तत्परता से काम कर रहा है। शहर में प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है।

दूसरी ओर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के अनुसार मंगलवार को भी दिल्ली-एनसीआर के निवासी खराब हवा में सांस लेने को मजबूर रहे। क्योंकि वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) मंगलवार को 'गंभीर' श्रेणी में रहा है। नई दिल्ली में आयकर कार्यालय (आईटीओ) के पास एक्यूआई 469 रहा। नोएडा के सेक्टर-62 में 480 रिकॉर्ड किया गया है। विशेषज्ञों के अनुसार गंभीर श्रेणी की हवा लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित करती है। मौजूदा बीमारियों वाले लोगों को गंभीर रूप से प्रभावित करती है। विशेषज्ञों के अनुसार गंभीर श्रेणी वाली प्रदूषित हवा लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित करती है।

दूसरी ओर नोएडा शहर में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए विकास प्राधिकरण पुरजोर तरीके से जुटा हुआ है। नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी ने बताया कि शहर में 30 निर्माणाधीन स्थलों पर एंटी स्मॉग गन लगवा दी गई थीं। अब मंगलवार से शहर के भीड़ भरे और व्यस्ततम चौराहों पर एंटी स्मॉग गन लगाई गई हैं। यहां व्यस्ततम घंटों के दौरान लगातार पानी का छिड़काव किया जा रहा है। जिससे धूल और धुएं को उड़ने से रोका जा सके। ऋतु महेश्वरी ने कहा कि इन प्रयासों के सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं। शहर की हवा में सुधार दर्ज किया गया है। दूसरी ओर लोगों को प्रदूषण नहीं फैलाने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। जो लोग नियम-कायदों का पालन नहीं कर रहे हैं, उनके खिलाफ जुर्माना किया जा रहा है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.