BREAKING: ग्रेटर नोएडा की बेनेट यूनिवर्सिटी का प्रशासन ने अधिग्रहण किया, जिले का सबसे बड़ा एल-1 हॉस्पिटल बनेगा, निम्स में आइसोलेशन सेंटर तैयार

Updated Jun 06, 2020 20:21:19 IST | Rakesh Tyagi

गौतमबुद्ध नगर में लगातार कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ते हुए देखकर जिला प्रशासन ने तैयारियां और व्यापक पैमाने...

BREAKING: ग्रेटर नोएडा की बेनेट यूनिवर्सिटी का प्रशासन ने अधिग्रहण किया, जिले का सबसे बड़ा एल-1 हॉस्पिटल बनेगा, निम्स में आइसोलेशन सेंटर तैयार
Photo Credit:  Tricity Today
Bennett University

गौतमबुद्ध नगर में लगातार कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ते हुए देखकर जिला प्रशासन ने तैयारियां और व्यापक पैमाने पर शुरू कर दी हैं। जिला प्रशासन नए क्वॉरेंटाइन सेंटर और आइसोलेशन वार्ड तैयार कर रहा है। इसके लिए ग्रेटर नोएडा की बैनेट यूनिवर्सिटी का अधिग्रहण कर लिया गया है। बैनेट यूनिवर्सिटी में एल वन हॉस्पिटल बनाया जाएगा। दूसरी ओर नोएडा इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस (निम्स) में आइसोलेशन वार्ड बनकर तैयार हो गया है।

दादरी के एसडीएम राजीव राय ने बैनेट यूनिवर्सिटी के अधिग्रहण का आदेश जारी कर दिया है। महामारी अधिनियम के तहत यह अधिग्रहण किया गया है। इससे पहले ग्रेटर नोएडा में गलगोटिया यूनिवर्सिटी और गलगोटिया कॉलेज का अधिग्रहण करके जिला प्रशासन ने वहां क्वॉरेंटाइन सेंटर बना रखे हैं। शारदा मेडिकल कॉलेज में भी उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश पर जिला प्रशासन ने कोविड-19 अस्पताल शुरू किया था। जहां से अब तक करीब 200 मरीजों का इलाज करके डिस्चार्ज किया जा चुका है।

एसडीएम राजीव राय की ओर से बताया गया है कि यूनिवर्सिटी के छात्रावास में 1000 बेड की सुविधा उपलब्ध होगी। यह गौतम बुध नगर जिले में एल वन श्रेणी का सबसे बड़ा अस्पताल होगा। वहीं, नोएडा इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में शुक्रवार को आइसोलेशन की सुविधा शुरू हो गई है। निम्स में आइसोलेशन के लिए 200 बेड उपलब्ध कराए गए हैं। अब नोएडा और ग्रेटर नोएडा में आइसोलेशन के लिए उपलब्ध बेड की संख्या 700 हो गई है।

आपको बता दें कि है कि जिला प्रशासन की ओर से किसी को भी होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जा रही है। जिला प्रशासन का कहना है कि कोरोना से संक्रमित मरीज सिर्फ अस्पतालों में बने आइसोलेशन में ही एडमिट होंगे। गौतम बुद्ध नगर जिले में भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। शुक्रवार को नोएडा में 27 नए मामले सामने आए थे। नोएडा में अब तक कोरोना के 609 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, प्रदेश में भी मरीजों की तादाद में अब तक का सबसे अधिक इजाफा हुआ। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को एक दिन में 502 नए मामले सामने आए थे।

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार की शाम 6 बजे तक कोरोना के मरीजों की तादाद 9733 पहुंच गई थी। हालांकि, राहत की बात यह है कि प्रदेश में अब तक 5648 मरीज ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। बता दें कि देश में कोरोना से संक्रमितों की संख्या शुक्रवार की शाम तक 226000 से अधिक हो चुकी थी। इन्हीं हालात को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी जिलों को आदेश दिया है कि आइसोलेशन के लिए अधिक से अधिक बिस्तरों की जरूरत पड़ सकती है। लिहाजा, सरकार के आदेशों पर अमल करते हुए गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन लगातार आइसोलेशन वार्ड विकसित कर रहा है।

अब तक नोएडा के चाइल्ड स्पेशलिस्ट पीजीआई हॉस्पिटल में 50 बेड, ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में 150 बेड, शारदा मेडिकल कॉलेज में 200 बेड और ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में 100 बेड विकसित कर लिए गए थे। शुक्रवार तक गौतमबुद्ध नगर में 500 मरीजों का एकसाथ उपचार करने की व्यवस्था थी। अब निम्स में 200 बेड का नया आइसोलेशन वार्ड शुरू हो जाने के बाद जिले में क्षमता बढ़कर 700 बेड तक पहुंच गई है।

Bennett University, L-1 hospital, Isolation center in Greater Noida, NIMS, Greater Noida University, Noida International Institute of Medical Sciences