ग्रेनो और ग्रेनो वेस्ट के लिए बड़ी खबर, इस समस्या का समाधान होगा

Updated Jan 21, 2020 11:56:39 IST | Tricity Today Reporter

ग्रेटर नोएडा के लोगों को जुलाई से गंगाजल मिलने लगेगा। अब सिर्फ 4 किलोमीटर पाइप लाइन का काम बचा है। यह काम तेजी के साथ चल रहा है। जबकि पल्ला गांव में गंगाजल शोधित प्लांट बन चुका है। इसके शुरू होने से ग्रेटर नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों को गंगाजल मिलना शुरू हो जाएगा...

Photo Credit:  Tricity Today
Gaur City Chowk

ग्रेटर नोएडा के लोगों को जुलाई से गंगाजल मिलने लगेगा। अब सिर्फ 4 किलोमीटर पाइप लाइन का काम बचा है। यह काम तेजी के साथ चल रहा है। जबकि पल्ला गांव में गंगाजल शोधित प्लांट बन चुका है। इसके शुरू होने से ग्रेटर नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों को गंगाजल मिलना शुरू हो जाएगा। इस पर करीब 300 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने 2007 में गंगाजल की आपूर्ति की योजना बनाई थी। लेकिन लेटलतीफी के चलते यह सिरे नहीं चढ़ पाया। 2021 की जनसंख्या को ध्यान में रखते हुए इसकी योजना बनाई गई थी। 85 क्यूसके (210 एमएलडी) की क्षमता का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट गांव पल्ला में बनाया गया है। हापुड़ जिले के देहरा के पास से गंगनहर से पानी लिया जाएगा। इसके लिए 23 किलोमीटर पानी की लाइन बिछाई जानी है। 19 किलोमीटर लाइन का काम पूरा हो गया है। यूजीआर, पानी की वितरण लाइन आदि का काम पहले ही पूरा हो चुका है। एक बड़ा यूजीआर जैतपुर के पास बनाया गया है। यहां से शहर के लोगों को पानी मिलेगा। 

सात गांवों की लगी है जमीन
पाइप लाइन के लिए छह मीटर चैड़ाई में 23 किलोमीटर लंबी जमीन की जरूरत है। यह जमीन रानौली लतीफपुर, बिसाहड़ा, मोइद्दीपुर गारकपुर, चिटहरा, पल्ला, थापखेड़ा व जैतपुर की है। देहरा से पल्ला गांव तक वाटर ट्रीटमेंट प्लांट तक 17.90 किलोमीटर लाइन की जरूरत है। जबकि प्लांट से मुख्य यूजीआर तक 5.10 किलोमीटर लाइन है। पाइप लाइन डालने का 19 किलोमीटर का काम पूरा हो गया है। बचा हुआ काम भी तेजी से कराया जा रहा है।

एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से लिया है लोन
इस परियोजना की लागत करीब 300 करोड़ रुपये है। इसमें से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से ऋण भी लिया है। प्राधिकरण ने करीब 225 करोड़ रुपये का लोन लिया है। परियोजना के पूरा नहीं होने से इसकी लागत में भी इजाफा होता रहता है। इसलिए प्राधिकरण का प्रयास है कि जल्द से जल्द इसको पूरा किया जाए और लोगों को राहत मिल सके।

जल्द काम पूरा कराने की तैयारी
परियोजना को पूरा कराने में जुटे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अफसरों के मुताबिक, पाइप लाइन डालने का काम तेजी से चल रहा है। इसके अलावा जो काम बाकी है, उसे भी कराया जा रहा है। अधिकारियों ने उम्मीद जताई कि जुलाई तक प्रोजेक्ट शुरू हो जाएगा। शहर के लोगों को शुद्ध पेयजल मिलने लगेगा।