BREAKING: लॉकडाउन के बीच जेवर हवाई अड्डे से जुड़ी बड़ी खबर, निर्माण शुरू करने के बीच आखिरी बाधा खत्म

Updated May 20, 2020 00:37:26 IST | Anika Gupta

लॉकडाउन के बीच जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़ी बड़ी खबर आई है। जेवर एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए आखिरी बाधा भी दूर...

Photo Credit:  Tricity Today
प्रतीकात्मक फोटो
Key Highlights
जेवर एयरपोर्ट बनाने के लिए ठेका हासिल करने वाली कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को सिक्योरिटी क्लीयरेंस मिला
करीब 6 महीने से उत्तर प्रदेश सरकार, यमुना प्राधिकरण और ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल क्लेरेंस का इंतजार कर रहे थे

लॉकडाउन के बीच जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़ी बड़ी खबर आई है। जेवर एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए आखिरी बाधा भी दूर हो गई है। एयरपोर्ट का निर्माण करने के लिए ठेका हासिल करने वाली स्विट्जरलैंड की कंपनी ज़्यूरिख़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट को सबसे जरूरी सुरक्षा अनापत्ति मिल गई है। यह एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए आखिरी अनापत्ति प्रमाण पत्र था। अब कभी भी जेवर एयरपोर्ट का निर्माण शुरू किया जा सकता है।

स्विस फर्म ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में जेवर हवाई अड्डे को विकसित करने के लिए केंद्र सरकार से सुरक्षा मंजूरी मिल गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रमुख सचिव एसपी गोयल ने मंगलवार को यह जानकारी दी है। यह फर्म 29 नवंबर को दिल्ली के बाहरी इलाके जेवर में ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट को विकसित करने वाली सबसे ऊंची बोली लगाने वाली कंपनी के रूप में उभरी थी। जिसमें अदानी एंटरप्राइजेज, डीआईएएल और एंकोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट होल्डिंग जैसी प्रतिस्पर्धी कंपनियां थीं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रमुख सचिव एसपी गोयल ने ट्वीट करते हुए लिखा, "खुशी है कि ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को जेवर में नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के विकास के लिए सुरक्षा मंजूरी मिल गई है।"

 

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुणवीर सिंह ने कहा, फर्म ने काम शुरू करने की प्रक्रिया के तहत केंद्रीय गृह मंत्रालय को सुरक्षा मंजूरी के लिए आवेदन किया था। अधिकारियों ने बताया कि भारत का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होने के कारण यह परियोजना 5,000 हेक्टेयर में फैला होगा। इस एयरपोर्ट के पहले चरण की अनुमानित लागत 29,560 करोड़ रुपये होगी।

हवाई अड्डे का पहला चरण 1,334 हेक्टेयर में फैला होगा। जिस पर 4,588 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। अधिकारियों के अनुसार यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की अगुवाई वाली विशेष एजेंसी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (एनआईएएल) इस परियोजना का प्रबंधन और संचालन कर रही है।

Jewar International Airport, Noida International Airport, Jewar Airport, Noida, Noida News, Zurich International Airport, NIAL, Yamuna Authority, YEIDA, Yamuna Expressway, Yamuna Auhority, Greater Noida, Jewar Airport News, SP Goel IAS, Yogi Adityanath, Uttar Pradesh, Uttar Pradesh News