बिसरख कोतवाली के इंस्पेक्टर मनोज पाठक सस्पेंड, गौरव चंदेल हत्याकांड में लापरवाही भारी पड़ी

Updated Jan 11, 2020 00:10:41 IST | TriCity Today Correspondent

गौरव चंदेल हत्याकांड में लापरवाही बरतने पर प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुमार रणविजय सिंह ने बिसरख कोतवाली के एसएचओ मनोज पाठक को निलंबित कर दिया है...

Photo Credit:  Tricity Today
इंस्पेक्टर मनोज पाठक

गौरव चंदेल हत्याकांड में लापरवाही बरतने पर बिसरख कोतवाली के एसएचओ मनोज पाठक को निलंबित कर दिया है। आज दोपहर मेरठ के पुलिस महानिरीक्षक आलोक सिंह और मंडलायुक्त अनीता मेश्राम ने मनोज पाठक के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को दिया था। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यह कार्रवाई मेरठ के आईजी ने की है।

गौरतलब है कि सीनियर मैनेजर गौरव चंदेल हत्याकांड में उनके परिजन लगातार बिसरख के इंस्पेक्टर मनोज पाठक पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा रहे हैं। गौरव चंदेल की पत्नी प्रीति चंदेल ने मंगलवार की सुबह ही मीडिया को बयान दिया था कि वह रात में अपने पति के गुम होने की शिकायत लेकर बिसरख कोतवाली पहुंची थी। उन्होंने एसएचओ और चौकी इंचार्ज से शिकायत की थी लेकिन उनकी कोई मदद नहीं की गई। प्रीति चंदेल और उनके पड़ोसी खुद ही गौरव चंदेल को पूरी रात सड़कों पर ढूंढते घूम रहे थे। अंततः मंगलवार तड़के करीब 4:00 बजे गौरव चंदेल का शव सड़क किनारे पड़ा मिला।

इस मामले में तत्कालीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने इंस्पेक्टर मनोज पाठक से जवाब तलब किया था। मनोज पाठक ने एक रिपोर्ट बनाकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भेजी थी। जिसमें उन्होंने सोमवार की रात प्रीति चंदेल की ओर से मिली शिकायत और उसके बाद की गई कार्रवाई का पूरा ब्यौरा दिया था। तत्कालीन एसएसपी वैभव कृष्ण उस रिपोर्ट से सहमत थे या नहीं यह जानकारी उन्होंने नहीं दी थी।

वहीं शुक्रवार की सुबह मंडलायुक्त और पुलिस महानिरीक्षक गौरव चंदेल के परिजनों से मिलने पहुंचे तो उन्होंने एक बार फिर बिसरख पुलिस पर लापरवाही बरतने के आरोप लगाए। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इसके बाद पुलिस महानिरीक्षक ने सूरजपुर पुलिस मुख्यालय में प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुमार रणविजय सिंह को मनोज पाठक के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया। इसी क्रम में बिसरख के इंस्पेक्टर मनोज पाठक को निलंबित कर दिया गया है।

Bisarkh Kotwali, Inspector Manoj Pathak Suspended, Manoj Pathak, UP Police