भाजपा के सुधांशु त्रिवेदी ने मुलायम सिंह यादव पर हमला बोला, कहा- 1996 में चीन के साथ एलएसी को लेकर गलत एग्रीमेंट किया

Updated Jun 19, 2020 19:15:04 IST | Tricity Reporter

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और संयुक्त मोर्चा सरकार....

भाजपा के सुधांशु त्रिवेदी ने मुलायम सिंह यादव पर हमला बोला, कहा- 1996 में चीन के साथ एलएसी को लेकर गलत एग्रीमेंट किया
Photo Credit:  Tricity Today
Sudhanshu Trivedi attacked Mulayam Singh Yadav

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और संयुक्त मोर्चा सरकार में रक्षा मंत्री रहे मुलायम सिंह यादव पर हमला बोला है। सुधांशु त्रिवेदी ने एक नेशनल न्यूज़ चैनल की डिबेट में मुलायम सिंह यादव पर आरोप लगाया कि उनके रक्षा मंत्री रहते हुए चीन के साथ गलत समझौता किया गया। जिसकी वजह से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल की स्थिति अस्पष्ट हो गई। आज जो स्थिति उत्पन्न हुई है, उसके लिए वह समझौता ही जिम्मेदार है।

शुक्रवार को एक नेशनल न्यूज़ चैनल पर डिबेट में एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता व राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी के बीच डिबेट चल रही थी। इस डिबेट के दौरान सुधांशु त्रिवेदी ने समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और संयुक्त मोर्चा सरकार में देश के रक्षा मंत्री रहे मुलायम सिंह यादव पर गंभीर आरोप लगाया है। सुधांशु त्रिवेदी ने कहा, "1996 में चीन के साथ एलएसी को लेकर संधि हुई थी। उस संधि में "एलएसी" शब्द का इस्तेमाल किया गया। जबकि सेना के शीर्ष अधिकारी "एक्जिस्टिंग एलएसी" शब्द का इस्तेमाल करना चाहते थे। लेकिन तत्कालीन रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने सेना के शीर्षस्थ अधिकारियों की बात को नजरअंदाज करते हुए समझौते में केवल "एलएसी" शब्द का उपयोग किया। जिसकी वजह से आज यह स्थिति गलवान घाटी में उत्पन्न हुई है।"

इसके लिए सुधांशु त्रिवेदी ने भारतीय सेना के एक रिटायर्ड डीजीएमओ स्तर के अधिकारी का हवाला भी दिया है। सुधांशु त्रिवेदी ने बताया कि सेना के उन अधिकारी ने यह बात बाकायदा लाइव चैनल पर एक इंटरव्यू के दौरान कही है। राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा, "संयुक्त मोर्चा की वह सरकार ऐसी थी, जिनके पास जनता दल के अपने केवल 40 सांसद थे। बाकी कांग्रेस, कम्युनिस्ट और तमाम दूसरी पार्टियां उस सरकार को समर्थन देकर चला रही थीं। ऐसे में 1996 में हुआ वह समझौता जो आज देश के लिए नुकसानदायक साबित हो रहा है, उसके लिए मैं सरकार चलाने वाले सारे राजनीतिक दल जिम्मेदार हैं।"

सुधांशु त्रिवेदी के जवाब पर असदुद्दीन ओवैसी ने आपत्ति जताई। ओवैसी ने कहा, "आप जिस समझौते की बात कर रहे हैं, अब उसके कोई मायने नहीं हैं। आप केवल देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। जिस समझौते को चीन ने नहीं माना, आप उसे क्यों मान रहे हैं। अब जब चीन समझौता तोड़कर आगे बढ़ चुका है तो भारत सरकार को समझौते की दुहाई नहीं देनी चाहिए।" असदुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा कि चीन और 1996 में भारत की तत्कालीन सरकार के बीच हुई संधि भारत का संविधान नहीं है, जिसे मानने के लिए आप की सरकार मजबूर हैं।

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव संयुक्त मोर्चा सरकार में 1 जून 1996 से 19 मार्च 1998 तक देश के रक्षा मंत्री रहे थे। उन्होंने उस वक्त पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा और आईके गुजराल के साथ काम किया था। केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की 13 दिन में सरकार गिर जाने के बाद मुलायम सिंह यादव ने प्रमोद महाजन की जगह बतौर रक्षा मंत्री कार्यभार संभाला था। मुलायम सिंह यादव के बाद दोबारा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने सरकार बनाई थी। जिसमें अटल बिहारी वाजपेई के साथ जॉर्ज फर्नांडीस रक्षा मंत्री थे।

BJP, Bhartiya Janta Party, Sudhanshu Trivedi BJP, Mulayam Singh Yadav, Samajwadi Party, India-China LAC, Line of actual Control, India-China Dispute, Samajwadi Party, Defence Minister of India, Rajnath Singh BJP, Narendra Modi, Asaduddin Owaisi, AIMIM, Rajya Sabha MP, Lok Sabha MP, Parliament of India, Taiwan, Hong Kong, India against China, Lord Rama and dragon, Taiwan with India, Hong Kong with India, Indian ARMY, ITBP, China Force, Chine Border, I Hate China, Hong Kong Stand With India, Taiwan News, Taiwan Stand With India, LIHKG Social Media, HoSaiLei Hong Kong, Lord Rama killing Chinese Dragon, Lord Rama poised to Slay China's Dragon, Rama Fighting Dragon Image, Indian Army, India vs China, India vs China News