प्यार से हार गया कोरॉना वायरस, हापुड़ पहुंची चीनी दुल्हन

Updated Feb 10, 2020 17:26:26 IST | TriCity Today Correspondent

कहते हैं कि मुहब्बत के सामने सब छोटा है। ऐसा ही एक उदाहरण देखने के लिए मिला है। हापुड़ शहर में रहने वाले राकेश जैन के परिवार की बड़ी उलझन शनिवार की देर रात दूर हो गई। राकेश जैन के बेटे की शादी होनी है लेकिन उनकी पुत्रवधु चीनी...

Photo Credit:  Tricity Today
चीनी दुल्हन

कहते हैं कि मुहब्बत के सामने सब छोटा है। ऐसा ही एक उदाहरण देखने के लिए मिला है। हापुड़ शहर में रहने वाले राकेश जैन के परिवार की बड़ी उलझन शनिवार की देर रात दूर हो गई। राकेश जैन के बेटे की शादी होनी है लेकिन उनकी पुत्रवधु चीनी है। कोरॉना वायरस के कारण शादी खटाई में पड़ गई। लंबी रस्साकशी के बाद आखिरकार चीनी दुल्हन भारत पहुंच गई है।

राकेश जैन के भाई ने बताया कि अब दोनों की शादी 14 फरवरी को होगी। उससे पहले गोदभराई की रस्म 13 फरवरी को मुरादनगर के एक फार्महाउस में होगी। पहले इनकी शादी 9 फरवरी को होनी थी। लेकिन कोरॉना वायरस की वजह से चीनी युवती का वीजा कैंसल कर दिया गया था। ऐसे में वह भारत नहीं आ पाई। परिवार की तरफ से कोशिश जारी रहीं। जिसकी बदौलत केंद्र सरकार ने दुल्हन को वीजा दे दिया और वह भारत आ गई है।

हापुड़ शहर के निवासी राकेश जैन दिल्ली में वाणिज्य मंत्रालय में उच्च अधिकारी हैं। इनके बेटे सूर्याश जैन अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में नौकरी करते हैं। 2013 में वह पढ़ाई के लिए न्यूयॉर्क गए थे। पढ़ाई के दौरान इनकी दोस्ती चीनी युवती डॉ. सारा से हुई। धीरे-धीरे दोस्ती प्यार में बदल गई। दोनों का करियर जब सेटल हुआ तो उन्होंने इस साल शादी करने की योजना बना ली। परिवार की सहमति के बाद दोनों की शादी 9 फरवरी को गाजियाबाद में करने का फैसला हो गया।

शादी के लिए सूर्यांश एक फरवरी को न्यूयॉर्क से भारत आ गए। 2 दिन बाद सारा को भी भारत आने वाली थीं। लेकिन, इसी बीच कोरॉना वायरस फैल गया। 3 फरवरी को चीनी नागरिक होने की वजह से उनका वीजा कैंसल कर दिया गया। परेशान दुल्हन ने भारतीय दूतावास में जाकर अपनी परेशानी बताई और भारत के लिए वीजा देने का अनुरोध किया। वहीं, सूर्यांश के परिवार ने भी भारत सरकार से इस मामले में मदद मांगी। भारत सरकार की मदद से सारा से मैनुअली वीजा अप्लाई करवाया गया। सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद शुक्रवार को सारा को वीजा दे दिया गया है।

इसके बाद शनिवार की देर रात वह भारत आ गई हैं। परिवार वाले उन्हें लेने दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचे और वहां से जनकपुरी ले गए हैं। अब 13 फरवरी को सारा की गोद भराई गाजियाबाद के मुरादनगर कसबे में होगी। यहां जैन परिवार ने फार्म हाउस बुक कर रखा है। इसके बाद वैलेनटाइन डे के दिन 14 फरवरी को दोनों की शादी होगी। लिहाजा, कोरॉना वायरस भी प्यार के आगे हार गया।